रूहेलखंड विश्वविद्यालय में इन्वेस्टर सम्मेलन का आयोजन

बरेली , 21जनवरी ।रूहेलखंड विश्वविद्यालय के नेहरु केंद्र स्थित शोध निदेशालय के सभागार में रुहेलखण्ड इन्क्यूबेशन फाउंडेशन द्वारा बरेली परिक्षेत्र के व्यापारियों तथा उद्योगपतियों का एक इन्वेस्टर सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस इन्वेस्टर सम्मेलन की अध्यक्षता महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखण्ड विश्वविद्यालय, बरेली के कुलपति प्रो० कृष्ण पाल सिंह द्वारा की गयी | कार्यक्रम की शुरुआत में रुहेलखण्ड इन्क्यूबेशन फाउंडेशन के मुख्य परिचालन अधिकारी डॉ यतेन्द्र कुमार द्वारा कार्यक्रम में पधारे समस्त अथितियों का स्वागत एवं परिचय कराया गया |

इस कार्यक्रम में बरेली तथा आसपास के परिक्षेत्र से लगभग 50 से अधिक उधमियों, स्टार्टअप्स, इंक्विबेटर्स ने अपनी सहभागिता की|
जिसमे मुख्यत: मयूर धीरवानी सेक्रेटरी आईआईए, अभिनव किशोर कटरू, रामायण फाइनेंस लि०, रजत मेहरोत्रा निदेशक भगवती प्रा० लि०, उन्मुक्त संभव शील , अध्यक्ष लघु उद्योग भारती, तनवर हसन, होटल रैडिसन, अनुपम खण्डेलवाल जयपुर साइंटिफिक एवं केमिकल, अद्वैत गुप्ता पांडव प्र० लि०, नीतिका गुप्ता , निदेशक गुड लुक्स, करनजीत सिंह बग्गा सीईओ ओरवा टेक, अभिषेक सिंह , कार्तिकेय अग्रवाल , रजत वर्मा फाउंडर, ट्रीट इजी, आलोक प्रकाश, निदेशक संस्कार लर्नर एंड नेतृत्वशाला , रवीश अग्रवाल, मुकेश गंगवार, तरुण भटनागर, राजश्री ग्रुप, मयुरेश अग्रवाल, सलिल बंसल , श्याम बिहारी लाल , निदेशक , त्रिमार्गा प्र० लि० इत्यादि व्यापारियों तथा उद्योगपतियों ने बरेली परिक्षेत्र के विकास हेतु अपने विचार व्यक्त किये।

मयूर धीरवानी सेक्रेटरी आईआई ए.ने बरेली तथा प्रदेश के युवा उधमियों का आह्वान किया कि बरेली तथा उत्तर प्रदेश के विकास में सहभागी बने। उत्तर प्रदेश की जनसंख्या एक परिसंपत्ति बन सकती है यदि हम प्रदेश को एक बड़े मैन्युफैक्चेरिंग हब के रूप में विकसित करें। जो भी उद्यमी हैं वो इन्वेस्ट इंडिया पर रजिस्ट्रेशन करवाये। एक करोड़ से अधिक निवेश करने वाले निवेश सारथी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवा सकते है। यू. पी. ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 24 जनवरी को बरेली में है।इससे उधमिता को बढ़ावा मिलेगा।

युवा उधमी सचिन अग्रवाल ने बरेली तथा आसपास के परिक्षेत्र में आलू उत्पदान तथा उसके खपत के सम्बन्ध में बताया कि यहाँ आलू पैदावार तो बहुत अधिक है पर उसके अनुरूप खपत नहीं हो पाती और फेकना पड़ता है | यदि बरेली तथा प्रदेश के उद्यमी/निवेशक आलू के अन्य प्रोडक्ट जैसे स्टॉर्च आदि बनाए पर विचार करें तो आलू को बर्बाद होने से बचाया जा सकता है |

इस अवसर पर माननीय कुलपति प्रोफेसर के.पी.सिंह ने कहा कि
उत्तर प्रदेश सरकार ने 1 ट्रिलियन डॉलर एवं भारत सरकार ने 5 ट्रिलियन इकॉनमी का लक्ष्य रखा है, इसे साकार करने के लिए नए इन्वेस्टर्स, नए स्टार्टअप्स, नए आइडिया की आवश्यकता है। बड़े इन्वेस्टर्स की तरफ भागने की अपेक्षा छोटे छोटे वेंचर्स को बढ़ावा देकर उनको सफल बनाया जाए तो देश की अर्थव्यवस्था सुदृड़ होगी। इस उद्देश्य हेतु विश्विद्यालय ने रोहिलखंड एनकुबेशन फाउंडेशन (आर. आई. ऑफ) का गठन धारा 8 कंपनी अधिनियम,2013 के तहत किया गया है। यह फाउंडेशन पूरे बरेली परिछेत्र के उद्योगों को बढ़ावा देने हेतु बना है जिसके माध्यम से विश्विद्यालय तकनीकी, वित्तीय सहायता, लैब टैस्टिंग, विधिक सलाह, नेटवर्किंग, वायबिलिटी रिपोर्ट्स, फ़िज़ाबिलिटी रिपोर्ट्स, मार्केट प्लान एवं शोध सर्वे आदि में सहायता एवं सलाह प्रदान कर रहा है। भारत का कंज्यूमर मार्केट बहुत बड़ा है। आर. आई.ऑफ का उद्देश्य लघु एवं मध्यम स्टार्टअप्स को बढ़वा देकर उनके उत्पादों को उनको राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाने में मदद करना है। रोहिलखंड के उद्यमियों को इन्वेस्ट इंडिया पर रेजिस्ट्रेशन करवाना चाहिए यदि वह चाहे तो रिफरेन्स में रोहिलखंड विश्विद्यालय का नाम भी डाल सकते है।

इस कार्यक्रम के दौरान महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखण्ड विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ राजीव कुमार, रुहेलखण्ड इन्क्यूबेशन फाउंडेशन के डायरेक्टर प्रो संजय मिश्रा, प्रो० शोभना सिंह, विश्वविद्यालय के अकादमिक संकायध्यक्ष प्रो० शरद कुमार पाण्डेय, सामाजिक एवं कॉर्पोरेट संबंध निदेशालय के निदेशक प्रो० संजय कुमार गर्ग; शोध निदेशालय के निदेशक प्रो० सुधीर कुमार, निदेशक इंटरनेशनल रिलेशन प्रो० सर्वजीत सिंह बेदी, विधि विभाग के डीन प्रो० अमित सिंह, चीफ प्रॉक्टर प्रो० अशोक कुमार सिंह, डीन शिक्षा शास्त्र प्रोफेसर रज्जन कुमार , प्रोफेसर जे.यन. मौर्य, विश्वविद्यालय के क्रीड़ा सचिव प्रो० आलोक श्रीवास्तव, सहायक कुलसचिव आनंद मौर्य , डॉ अनिता त्यागी, डॉ डी.डी.शर्मा एवं इन्क्यूबेशन एग्जीक्यूटिव ऑफिसर श्री रोबिन कुमार, मीडिया सेल से तपन वर्मा इत्यादि लोग उपस्थिति रहे |

बरेली से ए सी सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper