रोक के बावजूद जंतर-मंतर में जिग्नेश मेवाणी की हुंकार रैली, किया पीएम मोदी पर हमला

नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ मुखर दलित नेता जिग्नेश मेवाणी को संसद मार्ग से प्रधानमंत्री निवास तक ‘युवा हुंकार रैली’ की इजाजत दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को नहीं दी। इजाजत नहीं मिलने के बाद मेवाणी वहीं धरने पर बैठ गए।

इसके बावजूद रैली में शामिल होने के लिए जिग्‍नेश मेवाणी पहुंच चुके हैं। संसद मार्ग पर दिल्‍ली पुलिस ने भारी संख्‍या में पुलिस बल तैनात किया है। पुलिस आंसू गैस और वाटर कैनन के साथ तैयार है। संयुक्त पुलिस आयुक्त अजय चौधरी ने कहा, ‘किसी को भी (रैली आयोजित करने के लिए) इजाजत नहीं दी गई है।’

चौधरी ने राष्ट्रीय हरित अधिकरण के आदेश का हवाला दिया जिसमें मध्य दिल्ली में जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगाया गया है। उन्होंने कहा, ‘हमने आयोजकों को किसी अन्य स्थान पर जैसे रामलीला मैदान में विरोध प्रदर्शन आयोजित करने को कहा है।’

आपको बता दें कि पिछले साल 5 अक्टूबर को एनजीटी ने बढ़ते प्रदूषण का हवाला देते हुए जंतर-मंतर के आसपास धरना प्रदर्शन पर रोक लगा दी थी। गुजरात के वडगाम से निर्दलीय विधायक मेवाणी ने कहा कि उन्हें जानबूझ कर निशाना बनाया जा रहा है।

उन्होंने कहा, ‘दुर्भाग्यपूर्ण है। हम लोकतांत्रिक और शांतिपूर्ण ढ़ंग से रैली करने वाल हैं। सरकार हमें निशाना बना रही है। एक चुने हुए प्रतिनिधि को बोलने की इजाजत नहीं दी जा रही है।’ जिग्नेश ने मंगलवार सुबह ट्वीट कर बीजेपी को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा, ‘बांध ले बिस्तर बीजेपी, राज अब जाने को है, जुल्म काफ़ी कर चुके, पब्लिक बिगड़ जाने को है।’ जिग्नेश की रैली के विरोध में प्रदर्शन स्थल पर पोस्टर भी देखने को मिले।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper