लखनऊ: इलाज में लापरवाही से गर्भवती महिला की मौत

लखनऊ: दीपावली की तैयारी में जुटे रमाकांत को उम्मीद नही थी कि उनकी जीवसंगिनी हमेशा के लिए उनसे जुदा हो जाएगी। उसकी पत्नी की मौत ठाकुरगंज के निजी अस्पताल में इलाज के दौरान हो गई। वह इलाज करने वाले डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कार्रवाई के लिये तीन वर्षीय बेटी को लेकर ठाकुरगंज पुलिस स्टेशन की परिक्रमा कर रहे है। वहां पर कोई सुनवाई न होने पर बुधवार को पति ने सीएमओ कार्यालय में अस्पताल और डॉक्टर के खिलाफ लिखित शिकायत दी है।

स्वास्य अधिकारियों का कहना है कि शिकायत के आधार पर जांच करा कर कार्रवाई की जाएगी। बालागंज निवासी रमाकांत का आरोप है कि 25 अक्टूबर को पत्नी अर्चना मिश्रा को प्रसव पीड़ा शुरू हुई। आनन-फानन में वह तहसीनगंज स्थित ब्रजराज नर्सिंग होम में भर्ती करवाया दिया, उनका आरोप है कि भर्ती करने के बाद डाक्टरों ने जबरन कागजों पर हस्ताक्षर कराया और आपरेशन थियेटर में लेकर चले गये। यहां पर सिजेरियन कराने के लिए कहा और कुछ देर बाद बाहर आकर कहा कि सर्जरी के दौरान पत्नी की मौत हो गई।

उसके साथ आये परिजनों को यकीन ही नहीं हुआ। वह सब हंगामा मचाने लगे और सौ नंबर डॉयल किया, मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले शांत करा कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। लेकिन पुलिस की ओर से कोई अस्पताल संचालक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। अब पीड़ित दो दिनों से ठाकुरगंज पुलिस स्टेशन के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन पुलिस उनकी न सुन कर टरका देती है।

इससे आहत होकर उन्होंने बुधवार को सीएमओ कार्यालय में डॉक्टर के खिलाफ लिखित शिकायत की है। निजी अस्पताल के संचालक डा. अम्लाशुं का कहना है कि रमाकांत के द्वारा लगाया गया आरोप गलत है। पीड़िता को एक्टोपिक प्रेग्नेंसी थी। इससे उनकी हालत गंभीर हो गई थी, जो इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper