लखनऊ के चार कंटेनमेंट जोन में 20 जुलाई से होगा सम्पूर्ण लॉक डाउन, जानिए क्या होगा प्रोटोकॉल

लखनऊ: कोरोना का संकट धीरे धीरे गहराता जा रहा है। राजधानी में गुुरुवार को 300 से अधिक मरीज सामने आने के बाद प्रशासन ने संक्रमण की रफ्तार कम करने के लिए कई कडे़ कदम उठाने पर मजबूरी होना पड़ा। राजधानी के चार थाना क्षेत्रों को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए यहां सोमवार से संपूर्ण लॉक डाउन का पालन कराया जाएगा। इन थाना क्षेत्रों में आवश्यक सेवाओं को छोडकर किसी तरह की गतिविधि की अनुमति नहीं होगी। सभी दुकान और बाजाराें के अलावा कार्यालय और बैंक बंद रहेंगे। गुरुवार को स्मार्ट सिटी कार्यालय में देर रात एक अहम बैठक बुलायी जिसमें कोरोना की रोकथाम के लिए तमाम फैसलों पर विचार किया गया। बैठक मेे मंडलायुक्त मुकेश मेश्राम व जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश मौजूद थे।

राजधानी में कोरोना के संक्रमित मरीजों का आंकडा लगातार बढता जा रहा है। सबसे अधिक प्रभावित चार थाना क्षेत्रों में गाजीपुर में 31, आशियाना में 29, इंदिरानगर में बीस और सरोजनीनगर में 20 कटेंनमेंट जोन बनाए गए हैं। डीएम अभिषेक प्रकाश के मुताबिक कोरोना का संक्रमण और नहीं फैले इसके ‍लिए तमाम अहम फैसले ‍लिए गए हैं। लगातार दूसरे इलाकों की समीक्षा की जा रही है। जहां पर भी अधिक मरीज ‍निकलेंगे वहां पर कोविड की गाइड लाइन के अनुसार पालन कराया जाएगा। फिलहाल चार थाना क्षेत्रों को कटेनमेंट जोन घोषित किया जा रहा है। यहां पर प्रोटोकाल के अनुसार पालन कराया जाएगा।

जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि सभी शासकीय एवं निजी कार्यालयों ,बैंक्स इत्यादि पर कोविड हेल्प डेस्क बनाना अनिवार्य है। कोविड-19 हेल्प डेस्क में मुख्यतः थर्मल स्कैनर, पल्स ऑक्सीमीटर, मास्क व सैनेटाइज़र आदि रखना अनिवार्य है, अन्यथा ऐपेडैमिक एक्ट के तहत एफआइआर दर्ज करते हुए कड़ी दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी। रेलवे स्टेशन व एयरपोर्ट के लिए अलग से नोडल अधिकारी नामित किए जाएंगे और समस्त यात्रियों की टै्वल हिस्ट्री निकली जाएगी। इसके साथ ही समस्त सर्विलांस टीमों को हाइपरएक्टिव किया जाए व अन्य रोगों से पीड़ित चिंहित किये गये व्यक्तियों की शत-प्रतिशत ट्रैकिंग के आधार पर जांच कराई जाएगी। इन सबके बीच सबसे अहम फैसला ‍लिया गया कि रिपोर्ट पॉजिटिव आने के दो घंटे के अंदर एंबुलेंस भेजकर पॉजिटिव व्यक्ति को तत्काल भर्ती कराया जाएगा। इसके लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी को विशेष टीमें व एम्बुलेंस लगाने के निर्देश दिए।

चार थाना क्षेत्र मेें सोमवार से लॉक डाउन

गाजीपुर, इंदिरानगर, आशियाना और सरोजनीनगर कटेंनमेंट जोन घोषित
गाजीपुर में 31, आशियाना में 29, इंदिरानगर में 20 और सरोजनीनगर मे 15 कंटेनमेंंट
प्रशासन की अहम बैठक में लिया गया फैसला,
रोजाना प्रशासनिक अधिकारी भर्ती मरीजों से लेंगे फीडबैक
समस्त शासकीय, निजी व बैंक में कोविड हेल्प डेस्क बनाना अनिवार्य
कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वालो पर दर्ज होगी एफआइआर
सर्विलांस टीमों को किया जाए हाइपरएक्टिव
रिपोर्ट पॉजिटिव आने के 2 घंटे के अंदर व्यक्ति को कराना होगा भर्ती
अन्य अहम फैसले

ट्रैवल हिस्ट्री वाले व्यक्ति प्रोटोकॉल के अनुपालन में होम क्वॉरेंटाइन किये जाएंगे, अन्यथा उलंघन करने पर ऐपेडैमिक एक्ट में मुकदमा दर्ज करके कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
समस्त प्राइवेट हॉस्पिटल्स में भी टू्नेट मशीनो को लगवाया जाए व सभी कोविड हॉस्पिटल्स में सीसीटीवी कैमरे लगाना भी सुनिश्चित कराया जाएगा।
उपाध्यक्ष लखनऊ विकास प्राधिकरण सभी रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के लिए नोडल नामित नियुक्त किये गए है। जो कि समस्त सोसायटी व अपार्टमेंट में कोविड-19 हेतु प्रोटोकॉल का अनुपालन कराना सुनिश्चित कराएंगे व उलंघन करने वालो के विरुद्ध कार्यवाही करना सुनिश्चित कराएंगे।
नोडल अधिकारी तैनात

किंग जार्ज मेडिकल कालेज, ऐरा मेडिकल कालेज, बलरामपुर अस्पताल व अथर्व कैंसर अस्पताल के लिए अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व), डा0 राम मनोहर आयुर्विज्ञान संस्थान, एसजीपीजीआई, हज हाउस, सरदार पटेल अस्पताल हेतु अपर जिलाधिकारी (प्रशासन), आर0एम0एस0 चिकित्सालय, इण्टीग्रल मेडिकल कालेज, चंदन अस्पताल, सेंट मैरी अस्पताल के लिए अपर जिलाधिकारी (टीजी), लोकबंधु चिकित्सालय, सिविल हाॅस्पिटल (नाॅन कोविड) व एनआर हाॅस्पिटल हेतु अपर जिलाधिकारी (नगर-पूर्वी), मेयो अस्पताल, एल्टिस अस्पताल हेतु अपर जिलाधिकारी (ना-आपूर्ति) को नोडल अधिकारी नामित किया गया। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री मनीष बंसल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 नरेन्द्र अग्रवाल सहित सभी अपर जिलाधिकारी व अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

नोडल अधिकारी भर्ती व्यक्तियों से लेंगे फीडबैक

प्रशासन ने अब अफसरों को रोजाना मरीजों से सीधे फीडबैक लेने के निर्देश दिए है। प्रशासन ने प्रत्येक अस्पताल के लिए एक नोडल अधिकारी बनाया गया है जो किसी भी तरह की लापरवाही मिलने पर जवाबदेह होगा।जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने आज कोविड-19 के दृष्टिगत उपचार, धनात्मक व्यक्तियों की कोविड केयर सेण्टर के माध्यम से देखभाल, कन्टेनमेंट जोन में प्रोटोकाॅल के अनुसार अनुपालन के सम्बन्ध में बैठक करते हुये उक्त निर्देश अधिकारियों को दिये। डीएम ने कहा कि चिन्हित किये गये सभी कोविड हाॅस्पिटल के सुचारू रूप से संचालन एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं के सुदृढीकरण हेतु अधिकारियों को नामित करते हुये व्यवस्थायें सुनिश्चित की जायें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper