लखनऊ के दिल में हमेशा रहेंगे अटल बिहारी वाजपेयी: महापौर

लखनऊ। देश के पूर्व प्रधानमंत्री, भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि के अवसर पर नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन और महापौर संयुक्ता भाटिया ने नगर निगम लखनऊ और एचसीएल फाउंडेशन द्वारा विकसित किये जा रहे “अटल उदय वन” में वृक्षारोपण किया। मंत्री आशुतोष टण्डन और महापौर संयुक्ता भाटिया द्वारा इस्माईलगंज स्थित अटल बिहारी वाजपेयी नगर निगम डिग्री कॉलेज के अटल स्मृति मुख्य द्वार का शिलान्यास कर कार्य का शुभारंभ कराया।

महापौर संयुक्ता भाटिया द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को नमन करते हुए उनके नाम से लखनऊ की पर्यावरण की सेहत सुधारने के लिए एचसीएल फाउंडेशन के साथ अनुबंधन कर रहीमाबाद के बिजनौर रोड पर 1.5 लाख पेड़ लगाकर वन विकसित किया जा रहा है। जिसमे पूर्व प्रधानमंत्री की पुण्यतिथि पर मंत्री आशुतोष टण्डन और महापौर संयुक्ता भाटिया ने पौधरोपण कर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को नमन किया।

साथ ही महापौर संयुक्ता भाटिया द्वारा इस्माइलगंज स्थित नगर निगम डिग्री कॉलेज को अटल के नाम पर समर्पित किया था। उसे उनके नाम के अनुरूप विकसित करने का कार्य कर रही हैं। इसी क्रम में नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन और महापौर संयुक्ता भाटिया द्वारा डिग्री कॉलेज के भव्य मुख्य द्वार “अटल स्मृति मुख्य द्वार” का शिलान्यास किया गया।

इस मौके पर महापौर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि लखनऊ अटल जी की कर्मभूमि रही है। लखनऊ अटल का था, है और रहेगा। यहाँ हर जगह अटल से जुड़े किस्से और कहानियाँ मशहूर हैं। अटल का व्यक्तित्व कार्यकर्ताओं का विकास कर उनमें नेतृत्व क्षमता विकसित करने वाला था। कई पौध रूपी कार्यकर्ता वट-वृक्ष रूपी अटल के सानिध्य में पल्लवित होकर आज स्वयं वट-वृक्ष बन चुके हैं। उन्होंने कहा कि अटल ने हमेशा कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ाने का कार्य किया व समय समय पर उनको मार्ग दर्शन दिया है।

महापौर ने अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि ऐसा ही मेरा साथ भी हुआ जब अटल जी ने मुझे सामाजिक कार्यों की ए बी सी डी सिखाते हुए नेतृत्व और सामाजिक कार्यो का नया मन्त्र दिया था। बात उस समय की है जब अटल लखनऊ के सांसद हुआ करते थे, आलमबाग स्थित श्रृंगार नगर की सड़कें उस समय बहुत ही जर्जर अवस्था में थीं। पति स्वर्गीय भाटिया जी (तत्कालीन विधायक) के बीमार होने के कारण मैं स्वयं अटल जी से सड़क बनवाने का अनुरोध लेकर मिलने गई थी, तो उन्होंने नई दिशा प्रदान करते हुए सड़क बनवाने हेतु समाज से एकत्रीकरण करने का मंत्र देते हुए कहा कि जितना धन तुम समाज से एकत्र करोगी, उतना ही मैं अपनी सांसद निधि से सड़क बनवाने के लिए भी दूंगा, क्योंकि उनका मानना था कि विकास के कार्यों में सामाजिक भागीदारी भी होनी चाहिए।

महापौर ने बताया कि उनके दिए हुए इस मंत्र को आशीर्वाद स्वरूप लेते हुए मैंने अपने पति स्वर्गीय भाटिया जी के मार्गदर्शन में टोलियां बनवाकर उस समय करीब 6 लाख रुपए समाज से एकत्र किए, साथ ही अटल जी ने शाबाशी देते हुए अपनी सांसद निधि से भी सड़क के लिए 6 लाख रुपये दिए थे। महापौर ने आगे बताया कि उक्त रोड के उद्घाटन के अवसर पर स्वयं उपस्थित हो अटल जी ने इस उपक्रम की जमकर तारीफ की थी। इस मौके पर नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन एवं महापौर संयुक्ता भाटिया के साथ अटल बिहारी वाजपेयी नगर निगम डिग्री कॉलेज के प्राचार्य डॉ० सुभाष पांडेय, अपर नगर आयुक्त अभय पांडेय, राकेश यादव, जोनल अधिकारी प्रज्ञा सिंह, नगर अभियंता जैदी सहित अन्य जन उपस्थित रहे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper