लखनऊ में काटा चालान, बाइक पर बैठकर दारोगा ने की बदसलूकी, एसएसपी ने किया निलंबित

लखनऊ: मुख्यमंत्री व डीजीपी के तमाम निर्देशों के बाद भी राजधानी पुलिस का रवैया सुधरने का नाम नहीं ले रहा है। तालकटोरा में चोखा लेने गये दरोगा को इंतजार कराना दुकानदार कन्हैयालाल पर भारी पड़ गया। इस बात पर तिलमिलाया दरोगा वापस तो लौटा लेकिन अगले दिन मंगलवार रात पाल तिराहे पर बदला लेने के लिए चेकिंग शुरू कर दी। जैसे ही पीड़ित परिवार संग दुकान बंद कर डाले से लौटने लगा तो दरोगा ने सीट बेल्ट न लगाने पर ढाई हजार का चालान काट दिया। यही नहीं दरोगा बाइक पर बैठकर बदसलूकी भी करते रहे।

मंगलवार को दरोगा की करतूत का वीडियो सोशल मीडिया पर वॉयरल हुआ, जिसके बाद एसएसपी ने सीओ बाजारखाला से रिपोर्ट मांगी। सीओ की रिपोर्ट पर एसएसपी ने दरोगा दिनेश चन्द्र को निलम्बित कर दिया है।सलीमपुर पतौरा निवासी कन्हैयालाल बाटी-चोखा का डाला राजाजीपुरम पोस्ट आफिस के पास लगाते हैं। परिवार में पत्नी प्रमिला व चार बेटियां हैं। दो बेटियों की शादी हो चुकी है। कन्हैया के साथ पत्नी व बेटियां बाटी-चोखा बनाने व परोसे में मदद करती हैं। कन्हैया ने बताया कि बीते सोमवार को तालकटोरा थाने में तैनात दरोगा दिनेश चन्द्र वहां बाटी-चोखा खाने के लिए आए।

कन्हैया ने चोखा खत्म होने की बात कही। बोला कि साहब अभी बना रहा हूँ, कुछ वक्त लगेगा। यह दरोगा को इतना नागवार गुजरा कि वह बिना खाए ही चले गये। मंगलवार रात करीब दस बजे कन्हैया सामान समेट कर डाला लेकर परिवार संग घर जा रहा था। इसी दौरान पास पाल तिराहे पर बाइक लिए दरोगा दिनेश चन्द्र ने उसे रोक लिया।चेकिंग की बात कहते हुए दरोगा ने गाड़ी के पेपर मांगे। कन्हैया ने पेपर दिखाए। परेशान करने के लिए कोई रास्ता न सूझने पर दरोगा ने सीट बेल्ट न पहनने की धारा में 2500 रुपये का चालान काटकर कन्हैया के हाथ में थमा दिया। पीड़ित कन्हैया यह समझ गया कि सोमवार को चोखा न मिलने की सजा मिल रही है। लिहाजा उसने दरोगा के सामने हाथ जोड़कर मॉफी मांगी।इस पर दरोगा ने धमकाते हुए प्रतिदिन चालान करने की बात कही। दरोगा की बदसलूकी कन्हैया के साथ मौजूद बेटी ने मोबाइल पर कैद कर लिया।

मंगलवार को सोशल मीडिया पर उक्त वीडियो वॉयरल हुआ। वीडियो में साफ दिख रहा कि दरोगा दिनेश चन्द्र बाइक पर बैठे हैं और सामने दुकानदार खड़ा है। पास में एक सिपाही भी मौजूद है। वह भी दरोगा संग दुकानदार पर दबाव बना रहा है।वीडियो में दिख रहा है कि दरोगा कह रहे हैं कि राजाजीपुरम इलाके में दुकान नहीं लग पाएगी। वीडियो वॉयरल होने पर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने सीओ बाजारखाला से रिपोर्ट मांगी। सीओ अनिल यादव की रिपोर्ट पर एसएसपी ने उपनिरीक्षक दिनेश चन्द्र को निलम्बित कर दिया। एसएसपी का कहना है कि दरोगा का आचरण सही नहीं मिला है। मामले की जांच एएसपी पश्चिम को सौंपी गयी है

मेहनत कर दो वक्त की रोटी कमाने वाले कन्हैया लाल को 2500 रुपये के चालान की सजा इसलिए दी गयी कि उन्होंने दरोगा को वक्त पर चोखा नहीं दिया था। कन्हैया की गाड़ी के पेपर सही मिलने पर दरोगा दिनेश चन्द्र को जब कुछ नहीं सूझा तो उन्होंने सीट बेल्ट का चालान कर दिया। हालांकि दरोगा जी यह खुद भूल गये कि जिस बाइक पर बैठकर वे फर्राटा भरते हैं, उसका इंश्योरेंस बीते 23 सितम्बर को ही समाप्त हो चुका है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper