लखनऊ में दूसरे दिन रिकॉर्ड 449 मरीज मिले, 580 डिस्चार्ज, 11 की मौत

लखनऊ: शहर में कोरोना बेकाबू हो गया है। प्रतिदिन मरीजों का रिकॉर्ड टूट रहा है। लगातार दूसरे दिन मरीजों का आंकड़ा चार सौ पार कर गया। लिहाजा, गंभीर मरीजों के लिए अस्पताल में बेडों का संकट खड़ा हो गया है। इंदिरानगर में वायरस का प्रकोप सबसे ज्यादा है। यहां 80 से अधिक मरीज व करीब दस लोगों की जान जा चुकी है। वहीं, गोमती नगर, गाजीपुर, आशियाना क्षेत्र में भी वायरस हमलावर है। 70 से अधिक क्षेत्रों में रविवार को 449 लोग संक्रमित पाए गए। वहीं, मरीजों की अस्पताल में शिफ्टिंग अफसरों के लिए चुनौती बन गई है।

लोहिया, केजीएमयू, पीजीआइ में आइसीयू के बेड फुल रहे। वहीं, आइसोलेशन वार्ड में भी शाम को भर्ती मुश्किल हो गई, जो मरीज डिस्चार्ज किए गए, दोपहर तक उन बेडों पर दूसरे मरीज भर्ती हो गए। लिहाजा, गंभीर मरीजों की भर्ती के लिए नई रणनीति भी बनानी होगी। इसके अलावा सरकारी, प्राइवेट दफ्तरों के कर्मचारियों में भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इन कार्यालयों में मरीजों के संपर्क में आए स्टाफ की सूची तलब की गई है। वहीं 580 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। शहर में सर्वाधिक एक्टिव केस होने का रिकॉर्ड बना हुआ है। यहां तीन हजार से अधिक सक्रिय केस हैं।

अंबेडकरनगर के आलापुर तहसील क्षेत्र के सुतहरपारा गांव निवासी कोरोना संक्रमित सलगू कन्नौजिया (60) की सोमवार को दौरान ईलाज हुई मौत। कोरोना पाॅजिटिव पाए जाने के बाद जिला अस्पताल की ओर से उन्हें इलाज के लिए लखनऊ रेफर किया गया था। वहां मेडिकल कॉलेज में उनका उपचार चल रहा था। वृद्ध की मौत से परिवार में हड़कंप मचा है। इसके साथ जनपद में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या आठ हो गई है। कुल 160 संक्रमितों में 30 सक्रिय मामले हैं।

राजधानी के आठ समेत 11 की कोरोना वायरस से मौत

राजधानी में रविवार को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती ग्यारह और मरीजों की कोरोना से मौत हो गई। इनमें से आठ लखनऊ निवासी थे। वहीं, तीन गैर जनपदों के मरीज थे। ऐसे में राजधानी में मरने वालों की संख्या 79 हो गई है। लोहिया संस्थान में भर्ती अंबेडकर नगर निवासी 65 वर्षीय व्यक्ति की कोरोना से मौत हो गई। संस्थान के प्रवक्ता डॉ. श्रीकेश के मुताबिक, मरीज का इलाज वेंटिलेटर पर चल रहा था। रविवार को उसकी मौत हो गई।

केजीएमयू में चार की मौत

वहीं, केजीएमयू में चार मरीजों की मौत हो गई। विवि के प्रवक्ता डॉ. सुधीर ङ्क्षसह के मुताबिक, 65 वर्षीय अलीगढ़ के सूरतगढ़ निवासी व्यक्ति को 17 जुलाई को भर्ती कराया गया। दोपहर 12 बजे इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। इसके अलावा 65 वर्षीय बुजुर्ग की इलाज के दरम्यान मौत हो गई है। यह मरीज प्रयागराज के चक जीरो रोड का निवासी था। वहीं, राजधानी के कैसरबाग निवासी 65 वर्षीय मरीज की मौत हो गई। इलाज के दौरान मरीज को कार्डियक अरेस्ट व रेस्पिरेटरी फेल्योर हो गया। साथ ही आलमबाग के जयप्रकाश नगर निवासी 49 वर्षीय पुरुष की इलाज के दरम्यान मौत हो गई।

उधर, केकेसी के 84 वर्षीय पूर्व शिक्षक की भी कोरोना से जान चली गई। आलमबाग के 63 वर्षीय मरीज की लोकबंधु अस्पताल में मौत हो गई। इसके अलावा नगर निगम के चतुर्थ श्रेणी कर्मी की कोरोना से सांसें थम गईं। कुर्सी रोड स्थित निजी मेडिकल कॉलेज में कोरोना से लखनऊ निवासी तीन मरीजों की मौत हुई है। इनमें भीम नगर निवासी 70 वर्षीय बुजुर्ग, 62 वर्षीय ठाकुरगंज निवासी बुजुर्ग, 63 वर्षीय इटौंजा निवासी बुजुर्ग की कोरोना से सांसें थम गईं।

अमेठी में 17 और मिले कोरोना संक्रमित

अमेठी : जिले में 17 और लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। सभी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसी के साथ कुल सक्रिय केसों की संख्या 49 हो गई है। जिले में अब तक कुल 398 केस सामने आ चुके हैं। जिसमें 347 मरीज इलाज से ठीक होकर वापस अपने घर आ चुके हैं। जबकि दो की इलाज के दौरान जान जा चुकी है। जिलाधिकारी अरुण कुमार ने कहाकि संक्रमण रोकने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper