लखनऊ में नशेड़ी युवकों ने यातायात सिपाही से की अभद्रता

लखनऊ: कृष्णानगर क्षेत्र में बुधवार शाम कुछ नशेड़ी युवक ड्यूटी पर तैनात यातायात सिपाही से भिड़ गए। विरोध करने पर युवकों ने सिपाही को जान से मारने की धमकी तक दे डाली। यातायात सिपाही ने युवकों से अपनी जान बचाकर सौ नम्बर पर पुलिस कण्ट्रोल रूम को सूचना दी। सूचना पाकर पहुंची स्थानीय पुलिस नशे में धुत युवकों को पकड़कर थाने ले गई। सिपाही स्थानीय पुलिस से रिपोर्ट दर्ज करने की गुहार करता रहा, लेकिन पुलिस ने मामूली धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर मामले को रफा-दफा कर दिया।

मूलरूप से कनौज निवासी यातायात पुलिस में सिपाही सूर्य प्रताप सिंह पुत्र प्यारेलाल बुधवार रात करीब 8.30 बजे कृष्णानगर थाना क्षेत्र के वीआईपी रोड के पकरी पुल चौराहे पर अपने साथी होमगार्ड के संग यातायात व्यवस्था संभाल रहा था। उसी दौरान वीआईपी रोड स्थिति गोपालपुरी मुहल्ले का रहने वाला अशोक यादव अपने दो साथियों मनोज यादव निवासी कुकराईन खेड़ा पीजीआई व संदीप गुप्ता निवासी कुकराईन खेड़ा पीजीआई के साथ उबर कैब में लगी वैगनआर कार यूपी32केएन/4214 से नशे की हालत में सड़क पर हंगामा करने लगे।

यातायात व्यवस्था संभाल रहे सिपाही सूर्य प्रताप सिंह ने युवकों को रोक कर समझाना चाहा तो नशे में धुत्त युवकों ने सिपाही संग अभद्रता करते हुए मारपीट पर आमादा हो गए। सिपाही ने किसी तरह खुद को बचाकर पुलिस कण्ट्रोल रूम को मामले की सूचना दी। सूचना पर पहुंचे कृष्णानगर थाने के एसएसआई ने उपद्रव कर रहे युवकों को पकड़ लिया और थाने ले गए, जहां पीड़ित सिपाही ने थाना प्रभारी से शिकायत की, लेकिन कृष्णानगर पुलिस ने सिपाही की शिकायत को दरकिनार कर मामले को रफा-दफा करने में जुट रही और नशेड़ी युवकों का मामूली धाराओं में चालान कर मामले को रफा-दफा कर दिया।

कृष्णानगर कोतवाली प्रभारी दिनेश चन्द्र मिश्रा ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि तीनों युवक नशे में थे, लेकिन यातायात सिपाही के साथ किसी भी प्रकार की कोई अभद्रता नहीं की है। युवक सड़क पर हंगामा कर रहे थे, जिस वजह से हिरासत में लेकर उन पर शांतिभंग की कार्रवाई की गई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper