लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन, सपा व कांग्रेस कार्यकर्ता सड़क पर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ व आसपास के जिलों में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गया है। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए जगह-जगह पुलिसकर्मी तैनात कर दिए गए हैं। उधर, कांग्रेस व सपा कार्यकर्ताओं ने विधानभवन में चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के पास प्रदर्शन कर नागरिकता कानून व एनआरसी का विरोध किया।

नागरिकता कानून पर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि केंद्र सरकार का यह कानून भेदभाव पूर्ण है। इस देश ने कभी भी जाति व धर्म के आधार पर किसी से भेदभाव नहीं किया है। भाजपा की सरकार सिर्फ सत्ता पाने के लिए इस कानून को लेकर आई है। समाजवादी पार्टी इसका विरोध करती है। नागरिकता संशोधन कानून देश के खिलाफ है।

प्रदर्शन को देखते हुए लखनऊ में केडी सिंह बाबू स्टेडियम की मेट्रो लाइन बंद कर दी गई है। बता दें कि आज हो रहे प्रदर्शन के लिए प्रशासन ने अनुमति नहीं दी थी। बृहस्पतिवार रात को ही प्रदेश के डीजीपी ने चेतावनी जारी कर दी थी। उन्होंने वीडियो संदेश में भी अभिभावकों से बच्चों को प्रदर्शन में न भेजने की अपील की थी। प्रदेश के अलग-अलग जिलों में सपा मुख्यालय पर पार्टी के कार्यकर्ता एकत्र हो रहे हैं।

प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह लगातार माहौल पर नजर रख रहे हैं। वह सुबह 11 बजे परिवर्तन चौक पर अपनी टीम के साथ मौजूद रहे। इस समय उनके साथ आईजी व मंडलायुक्त भी मौजूद थे।

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में महाराष्ट्र के विभिन्न हिस्से बंद, मुंबई सामान्य

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper