लखनऊ में बिजली तार से गला कस कर बुजुर्ग की हत्या

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के कैसरबाग इलाके के कटरा मकबूलगंज मोहल्ले में एलआईसी हाउसिंग एजेन्ट के हेल्पर की बिजली के तार से गला कसकर हत्या कर दी गयी। उसका शव चारपाई पर मिला है। मोहल्ले के लोगोें का कहना है कि वारदात लूट के इरादे से की गयी है, जबकि पुलिस का कहना है कि रुपयोें के लेनदेन को लेकर किसी से उसका झगड़ा हुआ था। घर से नकदी गायब है। पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में डॉग स्क्वायड, फोरेंसिक जांच टीम मौके पर गयी, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा।

कैसरबाग थाना क्षेत्र में 6- बाल्मीकी मार्ग निवासी राजीव सनवाल के चचेरे भाई संजय सनवाल (62) कैसरबाग थाना क्षेत्र में 84/224 कटरा मकबूलगंज पुराना आरटीओ के पास पैतृक आवास में अकेले रहते थे और अविवाहित। मूलरूप से अल्मोड़ा नैनीताल के रहने वाले संजय सनवाल का परिवार बाहर रहता है। संजय शराब के लती थे, इसी लिए परिवार के लोगोें से नहीं बनती थी। वह एलआईसी हाउसिंग एजेन्ट प्रसून मिश्रा के हेल्पर के तौर पर काम करते थे और वह उन्हें गुजारा के लिए रुपये देता था।

खाना-पीना व चाय भी संजय प्रसून के घर में ही पीते थे। अक्सर वह सुबह ही प्रसून के घर सुबह की चाय पीने पहुंच जाते थे। शनिवार को काफी देर हो गयी थी तो प्रसून ने किसी को बुला लाने के लिए भेजा। वह घर में गया तो देखा कि संजय सनवाल चारपाई पर मृत पड़े थे और उनके गले में बिजली का तार लिपटा था। किसी उनका गला तार से कसकर मौत के घाट उतार दिया था। उन्हें पटक कर मारा भी था, जिससे उसके सिर के पिछले हिस्से से खून रिस रहा था। यह सूचना प्रसून ने चचेरे भाई राजीव को दी तो मौके पर पहुंचे और पुलिस को बुलाया। पुलिस मौके पर गयी और आसपास के लोगोें से पूछताछ करने के बाद फोरेंसिक टीम व डॉग स्क्वायड को बुलाया।

खोजी स्वान घटनास्थल के आसपास काफी देर तक भटकता रहा, लेकिन पुलिस को कोई सुराग हाथ नहीं लगा। पुलिस का कहना है कि क्षेत्रीय लोगोें से मिली जानकारी के अनुसार लेनदेन को लेकर उनका किसी से सुबह झगड़ा हुआ था। पुलिस मामले की जानकारी कर रही है। पुलिस ने कई लोगोें को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper