लखनऊ में वुमेन-ओनली कार ड्राइव का आयोजन

लखनऊ: वाॅल्वो कार इंडिया ने आज लैंगिक समानता को बढ़ावा देने के लिए वैश्विक पहल ‘इक्वल व्हीकल फाॅर ऑल’ (ईवीए) के तहत ऑल वुमेन ड्राइव की शुरुआत की। ईवीए अभियान सभी की सुरक्षा पर केंद्रित है और इसमें केवल उस सुरक्षा को जगह नहीं दी गई है, जिसमें पारंपरिक तौर पर ‘पुरुष क्रैश टेस्ट डमी’ पर ही सभी टेस्ट किए जाते हैं।

महिलाओं की शारीरिक संरचना अलग होती है और इसी कारण से दुर्घटना की स्थिति में उन पर पड़ने वाला प्रभाव भी अलग होता है। हमने अपनी कारों को महिला क्रैश टेस्ट डमी पर भी जांचते हुए सभी के लिए सुरक्षा सुनिश्चित की है। हमारी कारों में पुरुषों और महिलाओं की गर्दन पर लगने वाले झटकों (व्हिपलैश) को कम करने के लिए सीटों को विशेषरूप से व्हिप के साथ डिजाइन किया गया है। इसी तरह साइड इंपैक्ट प्रोटेक्शन सिस्टम (सिप्स) को ध्यान में रखते हुए शानदार स्ट्रक्चर बनाया गया है। इससे सुरक्षा बढ़ेगी। असल में साइड इंपैक्ट एयरबैग के साथ सिप्स सभी यात्रियों के लिए सीने पर लगने वाली चोट को 50 फीसद से ज्यादा घटा देता है।

लैंगिक समानता केवल प्रोडक्ट के डेवलपमेंट तक ही सीमित नहीं है, बल्कि यह हमारे काॅरपोरेट मिशन और कार्यसंस्कृति का भी हिस्सा है। वाॅल्वो कार्स ने 2025 तक सभी नेतृत्व वाले पदों में एक तिहाई महिलाओं की नियुक्ति का लक्ष्य रखा है। अभी हमारे साथ 23 प्रतिशत महिला कार्यबल है।

वाॅल्वो कार इंडिया के काॅरपोरेट कम्युनिकेशंस डायरेक्टर श्री सुदीप नारायण ने कहा, “लैंगिक समानता के प्रति जागरूकता लाने की दिशा में अपने अभियान पर हमें गर्व है। 2025 तक सभी नेतृत्वकारी पदों पर कम से कम एक तिहाई महिलाओं की नियुक्ति का लक्ष्य हमारे ब्रांड और काॅरपोरेट मिशन के अनुरूप ही है। अभी वैश्विक स्तर पर और भारत में हमारे साथ 23 प्रतिशत महिला कार्यबल जुड़ा है। हमारी वैश्विक ईवीए पहल में महिला क्रैश टेस्ट डमी बनाना भी शामिल है, जिससे सभी के लिए सुरक्षा सुनिश्चित हो।“

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper