लखनऊ मेट्रो दिवस, 2022: लखनऊ में मेट्रो सेवाओं के सफलतापूर्ण पूरे हुए 5 वर्ष

लखनऊ शहर में मेट्रो सेवाओं की शुरुआत के आज 5 वर्ष पूरे हो गए। मेट्रो परिचालन के सफलतापूर्ण 5 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में आज ट्रांसपोर्ट नगर स्थित मेट्रो डिपो में लखनऊ मेट्रो दिवस, 2022 का आयोजन हुआ, जिसमें यूपी मेट्रो के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। समारोह में मुख्य अतिथि श्री सुशील कुमार, प्रबंध निदेशक,(यूपीएमआरसीएल) समेत सभी निदेशक एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने कार्यक्रम में शिरकत की।

इस अवसर पर मेट्रो परिवार के सभी सदस्यों को बधाई और भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हुए श्री सुशील कुमार ने कहा कि, “5 वर्ष पूर्व आज ही के दिन माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने मेट्रो को हरी झंडी दिखा कर शुभारंभ किया था। इन विगत 5 वर्षों में तामाम चुनौतियों को पार करते हुए हमने कई उपलब्धियां अपने नाम दर्ज की हैं। उन्होंने अधिकारियों एवं कर्मचारियों को संबोधित करते हुए यूपीएमआरसीएल द्वारा पूर्व के 5 वर्षों में हासिल की निम्नलिखित उपलब्धियों का जिक्र किया-

 लखनऊ मेट्रो सेवाएं 5 सितंबर, 2017 को ‘ट्रांसपोर्ट नगर से चारबाग’ तक 8.5 किलोमीटर लंबे प्रायोरिटी कॉरिडोर पर शुरू हुईं।
 ‘सीसीएस एयरपोर्ट से मुंशीपुलिया’ तक पूरे 23 किलोमीटर उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर पर मेट्रो का संचालन 8 मार्च, 2019 को निर्धारित समय सीमा से 36 दिन पहले, केवल 4 साल 6 महीने में शुरू हुआ, जो अपने आप में रिकॉर्ड है।
 कानपुर मेट्रो परियोजना का उद्घाटन माननीय प्रधान मंत्री, श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 15 सितंबर, 2019 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर किया गया था।
 कानपुर मेट्रो के 8 किमी लंबे प्रायोरिटी कॉरिडोर का ‘आईआईटी कानपुर से मोतीझील’ का ट्रायल रन 10 नवंबर, 2021 को शुरू हुआ जो लखनऊ मेट्रो के भी रिकॉर्ड को तोड़ते हुए सबसे तेज निर्माण था।
 कानपुर मेट्रो के प्रायोरिटी कॉरिडोर ‘आईआईटी कानपुर से मोतीझील’ तक मेट्रो परिचालन 28 दिसंबर, 2021 को महज 2 साल 1.5 महीने में शुरू हो गया।
 आगरा मेट्रो परियोजना का उद्घाटन माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी, ने 7 दिसंबर, 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया । ताज ईस्ट गेट से जामा मस्जिद तक आगरा मेट्रो का 6 किमी लंबा प्रायोरिटी कॉरिडोर पर काम जोरों पर चल रहा है।
 लखनऊ मेट्रो ने सीसीएस एयरपोर्ट के अंडरग्राउंड स्टेशन का निर्माण मात्र 19 महीने 10 दिन में सबसे तेज गति से करने के लिए अपना नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी दर्ज किया है।

लखनऊ मेट्रो द्वारा पिक्षले 1 साल की उपलब्धियां-

 कानपुर मेट्रो का संचालन 2 साल 1.5 महीने के रिकॉर्ड समय में शुरू हुआ
 लोकसभा समिति ने लखनऊ मेट्रो की समीक्षा की और लखनऊ मेट्रो को अन्य मेट्रो के लिए रोल मॉडल के रूप में सिफारिश की
 कोविड-19 के बाद सभी महानगरों में सबसे तेजी से यात्रियों की संख्या में हुआ सुधार
 टियर-II शहरों के सभी महानगरों में प्रति किमी न्यूनतम स्टाफ के साथ लखनऊ मेट्रो में कम से कम विफलताएं हुंई

श्री सुशील कुमार ने 5 वें मेट्रो दिवस पर अगले 3 सालों के विजन की आधारशीला रखी-

 कानपुर मेट्रो के पूरे कॉरिडोर-1 पर मेट्रो सेवा शुरू हो जाएगी और दूसरा चरण भी शुरू हो जाएगा।
 इसी तरह आगरा मेट्रो का ‘ताज ईस्ट गेट से जामा मस्जिद’ तक 6 किलोमीटर लंबा प्रायोरिटी कॉरिडोर 2023 के अंत तक बनकर तैयार हो जाएगा और 2024 में चालू हो जाएगा।
 लखनऊ मेट्रो के दूसरे कॉरिडोर का निर्माण ‘चारबाग से वसंत कुंज’ तक होगा जो पुराने लखनऊ के प्रमुख स्थानों और अन्य भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों को जोड़ेगा
 उत्तर प्रदेश के अन्य शहरों जैसे गोरखपुर, वाराणसी, झांसी, मेरठ और प्रयागराज में मेट्रोलाइट जैसी मेट्रो परियोजनाएं जल्द ही हकीकत बन जाएंगी।

एम.डी गोल्ड एंड सिल्वर अवॉर्ड

मेट्रो दिवस के उपलक्ष्य पर हर बार की तरह ही सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन एवं लगनशील कर्मचारियों को एमडी गोल्ड और सिल्वर मेडल से सम्मानित किया जाता रहा है। इस बार भी प्रोजेक्ट श्रेणी में राजन सिंह, लेखपाल को गोल्ड और मो. शादाब, प्रबंधक, ट्रैक्शन को एमडी सिल्वर मेडल से सम्मानित किया गया। इसके अलावा ऑपरेशन्स और रोलिंग स्टॉक श्रेणी के अंतर्गत, श्री निशांत सिंह दिनकर, स्टेशन कंट्रोलर/ट्रेन ऑपरेटर, परिचालन ने गोल्ड और श्री शिवम शुक्ला, सहायक प्रबंधक, रोलिंग स्टॉक ने सिल्वर मेडल जीता। वहीं, मेंटेनेन्स स्टाफ़ में श्री गौरव कुमार, सेक्शन इंजीनियर, विद्युत, को एमडी गोल्ड मेडल और श्री हिमांशु वर्मा, सेक्शन इंजीनियर, सिग्नल को एमडी सिल्वर मेडल प्रदान किया गया। इसके अतिरिक्त, इस वर्ष सर्वश्रेष्ठ अनुरक्षित स्टेशन का पुरस्कार विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन के खाते में गया।

एमडी गोल्ड मेडल विजेताओं को 5 हज़ार रुपए और सिल्वर मेडल विजेताओं को 3 हज़ार रुपए की धनराशि दी गई। सर्वश्रेष्ठ अनुरक्षित स्टेशन विश्वविद्यालय की स्टाफ़ टीम को संयुक्त रूप से 10 हज़ार रुपए की पुरस्कार राशि प्रदान की गई।

हजरतगंज मेट्रो स्टेशन पर चित्र प्रतियोगिता

मेट्रो दिवस पर हजरतगंज मेट्रो स्टेशन पर लखनऊ के छायाकार पत्रकारों की तस्वीरों की प्रतियागिता का आयोजन किया गया। श्री सुशील कुमार ने प्रतियागिता में प्रथम पुरस्कार विजेता श्री युवराज शुक्ला को रु. 5100, द्वतीय पुरस्कार विजेता श्री सुनील रायदास को रु. 2100 एवं तृतीय विजेता रहे लक्ष्य सैनी को रु 1100 की नगद राशि के साथ-साथ सर्टिफिकेट भी प्रदान किया।

सर्वाधिक रिजार्ज कराने वाले गो-स्मार्ट कार्ड वालों को पुरस्कार

मेट्रो दिवस को यात्रियों के साथ मनाने के लिए हजरतगंज मेट्रो स्टेशन पर ही 5 करोड़ वें यात्री के साथ 3 सबसे बड़े रिजार्ज कराने वाले यात्रियों को प्रबंध निदेशक द्वारा पुरस्कार दे कर सम्मानित किया गया। इसके अतरिक्त हस्तशिल्प कलाकारों को बढ़ावा देने के लिए यूपीएमआरसीएल ने कलाकृति बाजार के साथ मिलकर हजरतगंज मेट्रो स्टेशन पर 8 स्टॉल भी लगाए हैं जहां मेट्रो यात्री जमकर खरीदारी का आनंनद उठा रहे हैं।

शिक्षक दिवस का आयोजन

मेट्रो दिवस और शिक्षक दिवस को एक साथ मनाने के लिए यूपीएमआरसी ने सेंट जोसेफ स्कूल के कुल 120 शिक्षकों को विशिष्ट रूप से सजाई गई मेट्रो में हजरतगंज से सीसीएस एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन में मेट्रो राइड करवाई। सीसीएस एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन पर शिक्षकों द्वारा श्री सुशील कुमार के सामने प्रस्तुत किए गए विभिन्न सासंकृतिक कार्यक्रमों की उन्होंने जमकर तारीफ की।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper