लखनऊ: विकास नगर में वकील ने पत्नी को गोली से उड़ाया

लखनऊ: विकासनगर इलाके में बच्चोें को नये कपड़े पहनाने के विवाद में अधिवक्ता ने पत्नी को लाइर्ससी बन्दूक से गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। हत्या करने के बाद वकील अपनी कार में बैठकर फरार हो गया। भागते समय वकील अपनी डीबीबीएल बन्दूक भी साथ ले गया। पुलिस ने बेटी की तहरीर पर आरोपित पिता के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।विकासनगर के सेक्टर-5 में रहने वाले अधिवक्ता सुरेश पाल सिंह ठेकेदारी करता है। उसके परिवार में पत्नी कीर्ति सिंह (50), छोटी बेटी आयुषी (28) व बेटा शाश्वत उर्फ राज है। बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है।

बेटा शाश्वत नोएडा में एक कालेज से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है। वह होली की छुट्टी पर अपने घर आया था। शाश्वत ने पुलिस को बताया कि होली की शाम पापा सुरेश पाल सिंह शराब के नशे में धुत थे। कपड़े पहनने को लेकर पापा-मम्मी के बीच कहासुनी होने लगी, इस पर हम लोगोें ने उन्हें समझाने का प्रयास किया तो मामला बढ़ता ही गया। इस बीच पापा अपनी लाइर्ससी बन्दूक निकला लाये और उन्होंने मम्मी (कीर्ती सिंह पर फायर झोंक किया। गोली उनके पेट के पास लगी और वह जमीन पर गिर गयीं।

उन्हें लहूलुहान देख पूरा परिवार घबरा गया और पड़ोसियों की मदद से उन्हें अस्पताल ले गये, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बच्चों के मुताबिक पत्नी को गोली मारने के बाद आरोपित वकील सुरेश पाल सिंह अपनी कार में बैठकर फरार हो गया। भागते समय वह अपनी बन्दूक भी साथ ले गया। पूछताछ के दौरान पुलिस को यह भी जानकारी मिली है कि सुरेश के कई महिलाओं से संबंध थे, जिसे लेकर पति-पत्नी के बीच अक्सर विवाद होता रहता था। पत्नी कीर्ति उसका विरोध करती थी।

सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मौके पर डॉग स्क्वायड और फिंगर प्रिंट दस्ते को बुलाया और अंगुल छाप उठाये। बेटे शाश्वत ने पुलिस को बताया कि गोली मारने के बाद पिता सुरेश बेटी आयुषी और हम लोगोें को नये कपड़े पहनाने के लिए मम्मी से कह रहे थे। सब नए कपड़े पहनकर मोहल्ले में होली मिलने की तैयारी कर रहे थे। इसी बीच दोनोें के बीच बहस हुई और पापा न मम्मी को बन्दूक से गोली मार दी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper