लविवि प्रकरण में सीओ को हटाया, चौकी प्रभारी सस्पेंड

लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय (लविवि) में 12 शिक्षकों को सरेआम उपद्रवी छात्रों द्वारा पीटने के मामले को लखनऊ हाईकोर्ट द्वारा संज्ञान लेने के बाद डीजीपी ओपी सिंह ने कार्रवाई की है। उन्होंने महानगर क्षेत्राधिकारी को हटाते हुए विश्वविद्यालय चौकी प्रभारी को निलंबित किया है। इसके साथ ही पूरे प्रकरण की जांच लखनऊ आईजी पाण्डेय को सौंपी है। वहीं, पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चार छात्रों को गिरफ्तार किया है।

लखनऊ विश्वविद्यालय में बुधवार को हुए बवाल के बाद विवि के कुलपति एसपी सिंह के नेतृत्व में विश्वविद्यालय प्रशासन का एक प्रतिनिधिमंडल गुरुवार को डीजीपी ओपी सिंह से मिलने उनके कार्यालय पहुंचा। यहां कुलपति ने स्थानीय पुलिस की लापरवाही की शिकायत करते हुए दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग की। इसके बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए डीजीपी ओपी सिंह ने सीओ महानगर अनुराग सिंह को तत्काल प्रभाव से हटा दिया। वहीं, लखनऊ विश्वविद्यालय चौकी इंचार्ज पंकज मिश्रा को भी निलंबित कर दिया। डीजीपी ने पूरे मामले की जांच लखनऊ आईजी रेंज सुजीत पाण्डेय को सौंपी है।

डीजीपी के एक्शन के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चार छात्रों को गिरफ्तार किया है। इनमें आकाश लाला, विनय यादव, हिमांशु और आशीष मिश्र बॉक्सर हैं। इनके साथ 20-25 लोग और थे, जिनकी पहचान नहीं हो सकी है। निष्कासित छात्र आशीष मिश्र को गुडम्बा पुलिस थाने ले गई। कुछ छात्रों को भी हसनगंज थाने में बैठाया गया है, जबकि अन्य लोगों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस प्रयासरत है।

गौरतलब है कि लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन ने कुछ पूर्व छात्रों को नए शैक्षिक सत्र में दाखिला देने पर रोक लगाई है। इसके विरोध मे छात्र पिछले सोमवार से विश्वविद्यालय में भूख हड़ताल और विरोध प्रदर्शन कर रहे है। छात्रों का आरोप है कि वे लोग 14 दिन से धरने पर बैठे हैं, लेकिन वीसी एसपी सिंह ने छात्रों से बात तक नहीं की। दो हफ्ते से लखनऊ विवि में माहौल खराब था। वीसी एसपी सिंह के अड़ियल रवैए के चलते हालात इतने बिगड़े गए और बुधवार को इसका खामियाजा शिक्षकों को भुगतना पड़ा।

कुलपति के दबाव पर सीओ हटे

वीसी एसपी सिंह की हठधर्मिता के चलते छात्रों को सजा मिल ही रही है, जबकि उनकी गलती की सजा पुलिस वाले भी भुगत रहे हैं। वीसी के दबाव में आकर डीजीपी ओपी सिंह ने महानगर सीओ को हटाया है तो वहीं चौकी इंचार्ज को निलंबित कर दिया है। वीसी की हठधर्मिता पर राजभवन क्या एक्शन लेगा यह तो आने वाला समय ही बतायेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper