लालू को सजा अप्रत्याशित नहीं, भ्रष्ट राजनेताओं के लिए है सबक: सुशील मोदी

पटना: बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने चारा घोटाला के चौथे मामले में रांची की सीबीआई अदालत द्वारा आज भारतीय दंड विधान और भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत सात- सात साल की जेल और 30-30 लाख रुपये का जुर्माना की सजा को भ्रष्टाचार में लिप्त राजनेताओं के लिए सबक माना है। उन्होंने कहा कि लालू को चौथे मामले में सजा अप्रत्याशित नहीं है।

मोदी ने शनिवार को यहां कहा कि राजद द्वारा चारा घोटाले में केन्द्र सरकार और भाजपा द्वारा लालू को फंसाने का आरोप सरासर गलत है। जब चारा घोटाले का लालू के खिलाफ सीबीआई में मुकदमा दर्ज हुआ था उस समय भाजपा की सरकार नहीं थी। शिवानंद तिवारी, ललन सिंह और मैंने घोटाला मामले में सीबीआई जांच के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। सुप्रीम कोर्ट ने पटना हाई कोर्ट की मानिटरिंग में सीबीआई जांच करवाई। यूएन विश्वास जैसे अधिकारी ने जांच की ,उसी का नतीजा आज सामने आया है। लालू प्रसाद तो उसी समय मामले को रफा-दफा करने में लगे थे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper