लेफ्टिनेंट कर्नल को कोर्ट की दो टूक: फेसबुक अकाऊंट बंद नहीं कर सकते तो नौकरी छोड़ दें

नई दिल्ली: चीन को सबक सिखाने व जासूसी से बचने के लिए भारतीय सेना ने अपने जवानों को फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत 89 मोबाइल एप्लीकेशंस को 15 जुलाई तक डिलीट करने के लिए कहा है। सैनिकों से जिन मोबाइल ऐप्स को डिलीट करने को कहा गया है, उसमें कुछ डेटिंग ऐप्स भी शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार, डिलीट की जाने वाली ऐप्स की लिस्ट में टिंडर, काउच सर्फिंग, न्यूज ऐप डेली हंट आदि शामिल हैं।

इस बैन के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी की है। दरअसल एक लेफ्टिनेंट कर्नल ने कोर्ट से फेसबुक प्रयोग की परमिशन मांगी थी जिसपर हाईकोर्ट ने साफ कहा कि जब बात देश की सुरक्षा की है तो वहां किसी प्रकार की कोताही नहीं बरती जा सकती है। उच्च न्यायालय की दो सदस्यीय खंडपीठ ने लेफ्टिनेंट कर्नल पी. के. चौधरी से यहां तक कह दिया कि अगर वो फेसबुक नहीं छोड़ सकते तो नौकरी छोड़ दें।

हाईकोर्ट ने सेना के इस वरिष्ठ अधिकारी को अंतरिम राहत देने से इनकार करते हुए कहा कि या तो संगठन के आदेश का पालन कीजिए या इस्तीफा दे दीजिए। लेफ्टिनेंट कर्नल पी. के. चौधरी ने हाल में फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे सोशल नेटवर्किंग साइट का इस्तेमाल सशस्त्र बल के कर्मियों के लिए प्रतिबंधित किए जाने को चुनौती दी है। उच्च न्यायालय ने कहा कि उनके पास विकल्प है।

लेफ्टिनेंट कर्नल ने सेना के आदेश के खिलाफ कोर्ट में यह दलील दी थी कि जब अकाउंट बंद कर देंगे तो उनके फेसबुक अकाउंट में सभी डेटा, संपर्क और दोस्तों से संपर्क टूट जाएगा जिसे फिर बहाल करना मुश्किल होगा। इस पर पीठ ने कहा, ‘नहीं, नहीं। माफ कीजिएगा। आप कृपया इसे बंद कीजिए। आप कभी भी नया अकाउंट बना सकते हैं। ऐसे नहीं चलता है। आप एक संगठन का हिस्सा हैं। आपको इसके आदेशों को मानना होगा।

सेना ने कई मैसेजिंग, वीडियो होस्टिंग, गेमिंग, ई-कॉमर्स, डेटिंग, ब्लॉगिंग, म्यूजिक ऐप्स को इस्तेमाल करने से मना कर दिया है। वी-चैट, हेलो, हाइक, पब्जी, ट्र-कॉलर को भी डिलीट करने को कहा है। इससे पहले हाल ही में केंद्र सरकार ने भारत-चीन में सीमा विवाद के बीच 59 चीनी ऐप्स पर बैन लगा दिया था। जिन ऐप्स को प्रतिबंधित किया गया था, उसमें टिकटॉक, वी-चैट, हेलो, यूसी ब्राउजर आदि जैसी ऐप्स शामिल थीं। इसके बाद टिकटॉक ने बयान जारी कर कहा था कि उसने कभी भी अपने यूजर्स का निजी डाटा चीन समेत किसी भी अन्य देश के साथ साझा नहीं किया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper