लॉकडाउन : अभिभावकों को राहत, अप्रैल-मई की फीस जून में पहले नहीं लेंगे स्कूल

लखनऊ : डीएम अभिषेक प्रकाश ने आदेश जारी कर कहा है कि कोई भी प्राइवेट स्कूल अभिभावकों को अप्रैल, मई और जून महीने की एडवांस फीस जमा करने के लिए बाध्य नहीं करेगा। अगर किसी भी अभिभावक को परेशान किया गया, तो प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि कई निजी स्कूल प्रबंधन अभिभावकों को एडवांस फीस जमा करने के लिए दबाव बना रहे हैं। जबकि लॉकडाउन के चलते सभी स्कूल-कालेज बंद हैं। बावजूद इसके कई निजी स्कूल प्रबंधन अभिभावकों को मैसेज भेजकर फीस जमा करने के निर्देश दे रहे हैं। फीस जमा न करने की स्थिति में अभिभावकों को बच्चों के नाम स्कूल से काटने तक की धमकियां दी गई।

डीएम ने साफ किया है कि कोरोना वायरस के कारण फैल रही महामारी को आपदा घोषित किया है। सभी शैक्षणिक संस्थाओं के प्रबंधन को आदेशित किया जाता है कि किसी भी अभिभावक को एडवांस फीस जमा करने के लिए बाध्य न किया जाए।

कई शहरों में डीएम ने दिए आदेश : कानपुर के डीएम डॉ. ब्रह्मदेव राम तिवारी ने भी सभी बोर्ड के स्कूल संचालकों को आदेश दिया है कि वे अप्रैल और मई महीने में फीस नहीं जमा कराएंगे और न ही किसी छात्र का नाम काट सकेंगे। आगामी माह की फीस का चार्ट इसी आदेशनुसार तैयार करेंगे। इसके अलावा वाराणसी के कॉन्वेंट स्कूलों में पढ़ने वाले अभिभावकों को डीएम कौशल राज शर्मा की तरफ से बड़ी राहत मिली है। जून तक कोई भी स्कूल किसी बच्चे की फीस जमा करने के लिए दबाव नहीं बनाएगा। इस अवधि की फीस जुलाई के बाद जमा कराई जा सकती है। इसका चार्ट बनाकर अभिभावकों को पहले ही दिया जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper