लॉकडाउन मे रेलवे को हुआ नुकसान ,नई भर्तियों पर लगाई रोक

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच रेलवे ने आर्थिक मोर्चे पर बड़ा फैसला लिया है। रेलवे ने नई भर्तियों पर रोक लगाने का ऐलान किया गया है। पिछले दो साल के दौरान सृजित किए गए नए पदों की भी समीक्षा की जाएगी साथ ही 50% पदों को सरेंडर भी किया जाएगा।

अगले आदेश तक नई बहाली नहीं होगी
रेलवे बोर्ड, रेल मंत्रालय और भारत सरकार की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि अगले आदेश तक नए पदों के लिए बहाली नहीं होगी। हालांकि सुरक्षा संबंधी पदों पर बहाली को लेकर छूट दी गई है।

सुरक्षा संबंधी पदों पर आंशिक बहाली संभव
रेलवे बोर्ड पिछले दो सालों के दौरान सृजित किए गए पदों का रिव्यू करेगा। अगर इन पदों के लिए अभी तक रिक्रूटमेंट नहीं की गई है, ऐसे में या तो पूरी वैकेंसी कैंसल कर दी जाएगी या फिर सुरक्षा संबंधी पदों को छोड़कर केवल 50 फीसदी बहाली की जाएगी।

लॉकडाउन के कारण हजारों करोड़ का नुकसान
दरअसल कोरोना लॉकडाउन के कारण रेलवे को काफी नुकसान हुआ है। 25 मार्च से पूरे देश में लॉकडाउन है। दो महीने से ज्यादा तक संचालन पूरी तरह बंद रहा है। मई के दूसरे सप्ताह में स्पेशल ट्रेन के रूप में आंशिक संचालन शुरू हुआ है। हाल ही में रेलवे की तरफ से घोषणा की गई थी कि 12 अगस्त तक नियमित ट्रेनों का संचालन नहीं किया जाएगा। इतने दिनों तक संचालन बंद रहने से रेलवे को हजारों करोड़ का नुकसान हुआ है और रोजाना हो रहा है।

खर्च में कटौती पर रेलवे का फोकस
यही वजह है कि रेलवे ने अपने खर्च में कटौती का फैसला किया है। नई बहाली पर रोक, पुरानी बहाली पर जरूरत के हिसाब से कटौती का फैसला उसी दिशा में उठाए गए कदम हैं। इससे इतर रेलवे अब प्राइवेट ट्रेनों के संचालन पर भी फोकस कर रहा है। माना जा रहा है कि 2023 तक इसकी शुरुआत हो जाएगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper