लॉमार्टिनियर के ड्राइवर ने साथियों के साथ मिलकर किया था छात्र को अगवा

लखनऊ: लॉमार्टिनियर कालेज में कक्षा-11 के छात्र अरनव अग्रवाल (17) को उसके ही ड्राइवर ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर अगवा कर लिया। छात्र के पिता ने एक रिटार्यड आईपीएस की मदद से मामला आईजी जोन तक पहुंचाया तो राजधानी पुलिस हरकत में आयी और सात घंटे बाद अपहृत छात्र को सीतापुर जनपद के मामपुर से बरामद कर उसकी कार के चालक सन्तोष तो गिरफ्तार कर लिया गया है। उसके दो साथियोें की तलाश की जा रही है जो मौके से भागने में सफल हो गये। पुलिस का कहना है कि अपहरण फिरौती के लिए किया गया था। इस मामले में अभी आरोपितोें से पूछताछ की जा रही है। कुछ नई जानकारियोें का खुलासा होने की उम्मीद जताई जा रही है।

हजरतगंज इलाके में 9//20 सवरेदय कालोनी राना प्रताप मार्ग निवासी अनूप अग्रवाल कारोबारी हैं। उनका बेटा अरनव अग्रवाल लामार्टिनियर कालेज में कक्षा-11 का छात्र है। पिता अनूप अग्रवाल के अनुसार अरनव की परीक्षा चल रही है, इसलिए रोज की तरह सोमवार सुबह करीब 9 बजे ड्राइवर सन्तोष कुमार यादव निवासी ग्राम बैकुण्ठपुर थाना कमलापुर जनपद सीतापुर व हालपता नारायण ऑटो सेल्स सव्रेन्ट क्वार्टर शाहनजफ रोड हजरतगंज उसे लाल रंग की महिन्द्रा एक्सयूवी 500, यूपी32ईआर/1578 से छोड़ने स्कूल गया था। जब काफी देर तक ड्राइवर वापस नहीं लौटा तो अनूप अग्रवाल ने स्कूल जाकर पता लगाया। वहां जानकारी मिली कि अरनव परीक्षा देने कालेज पहुंचा ही नहीं था।

इसके बाद अनूप व परिवार के लोगोें को किसी अनहोनी की आशंका हुई। उन्होंने अपने रिश्तेदार पूर्व आईजी जोन को मामले की जानकारी दी तो उन्होंने आईजी जोन सुजीत कुमार पाण्डेय को जानकारी दी। इसके बाद पुलिस महकमे में हलचल मच गयी। एसपी (पूर्वी ), एसपी (क्राइम), सीओ हजरतगंज व सीओ महानगर की निगरानी में कई टीमों का गठन कर कानपुर रोड, फैजाबाद रोड, सीतापुर रोड स्थित आउटर के थानों को चेकिंग करने की सूचना दी और अपने क्षेत्रों में लगे सीसटीवी कैमरे चेक करने के लिए कहा गया। इस बीच इटौंजा इंस्पेक्टर शिवशंकर सिंह ने एसएसपी को बताया कि लाल रंग की जिस कार का जिक्र किया जा रहा है वह उनके थाने के सामने से सुबह 9.52 पर गुजरी है।

कार में कुछ लोग बैठे दिखायी दे रहे हैं। इस जानकारी के मिलते ही पुलिस का शव ड्राइवर सन्तोष पर और पुख्ता हो गया। एसएसपी दीपक कुमार ने इंस्पेक्टर हजरतगंज आनन्द शाही व इंस्पेक्टर कृष्णानगर अंजनी पाण्डेय के नेतृत्व में दो टीमें गठित कर कारोबारी अनूप अग्रवाल को साथ लेकर सीतापुर रवाना कर दिया। पुलिस ने सीतापुर पहुंचते ही ड्राइवर सन्तोष के पिता को घासीपुर स्थित उसके घर से उठाया और सन्तोष के बारे में जानकारी ली। पिता अपने रिश्तेदारों के घर पुलिस को ले गया तो रास्ते में कार खड़ी दिख गयी।

पुलिस ने कार को कब्जे में ले लिया। क्षेत्रीय लोगों से पूछताछ में पता चला कि ड्राइवर सन्तोष अरनव को लेकर मामपुर जंगल की तरफ गया है। पुलिस ने जंगल में छानबीन शुरू की तो छात्र बरामद हो गया और पुलिस को देखकर सन्तोष ने भागने की कोशिश की, लेकिन धर लिया गया। उसके दो साथी सन्तोष का रिश्तेदार सव्रेश यादव व उसका मित्र अजय फरार हो गया। पुलिस दोनोें को लेकर लखनऊ पहुंची और चालक से पूछताछ शुरू की।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper