लोकतंत्र की चुनौतियों का सामना करने में हिंदी समर्थ और सक्षम: महापौर संयुक्ता भाटिया

आज शब्द सरिता संगठन द्वारा यूपी प्रेस क्लब में “लोकतंत्र की आधारशिला हिंदी और हम भारत के लोग” विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ मुख्य अतिथि श्रीमती संयुक्ता भाटिया ने द्वीप प्रज्वलित कर किया। इस मौके पर महापौर संयुक्ता भाटिया ने साहित्य क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्यों हेतु डॉ० वी०जी० गोस्वामी, श्रीमती शुभ्रा टण्डन, डॉ० अरविंद सिंह, श्रीमती मीनाक्षी उपाध्याय, अनिल किशोर, जी०बी० घोष को सम्मानित किया।

इस मौके पर महापौर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि हिंदी लोकतंत्र को सशक्त करती है, लोकतंत्र की चुनौतियों का सामना करने में हिंदी समर्थ और सक्षम है। महापौर ने आगे कहा कि भारत दुनिया में सबसे ज्यादा विविध संस्कृतियों वाला देश है। धर्म, परंपराओं और भाषा में इसकी विविधता के बावजूद यहां के लोग एकता में विश्वास रखते हैं। हिंदी भारत की सबसे प्रमुख भाषा है। दुनियाभर में हिंदी भाषा चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। भारत में विभिन्न भाषाएं बोली जाती हैं, लेकिन सबसे ज्यादा हिंदी भाषा बोली, लिखी व पढ़ी जाती है।

उक्त मौके पर महापौर संयुक्ता भाटिया के साथ विधान परिषद सदस्य पवन सिंह चौहान, पूर्व न्यायाधीश सी०बी० पाण्डेय, पंकज शुक्ला, शैलेंद्र शुक्ल सहित अन्य जन मौजूद रहे ।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper