नवरात्र से दीवाली तक लोकभवन में शिफ्ट हो जायेगा मुख्यमंत्री कार्यालय

लखनऊ ब्यूरो । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कार्यालय जल्द ही एनेक्सी से लोकभवन में शिफ्ट हो जायेगा। उम्मीद है कि नवरात्र से दीवाली के बीच मुख्यमंत्री का सचिवालय लोकभवन से काम करने लगेगा।
मुख्यमंत्री के अलावा प्रदेश के मुख्य सचिव और नियुक्ति, गृह, प्रोटोकाल व नागरिक उड्डयन जैसे महत्वपूर्ण विभागों के प्रमुख सचिवों के कार्यालय भी लोकभवन से ही संचालित होंगे।

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने शासन काल में लोकभवन का निर्माण कराया था। विधान सभा चुनाव से पहले उन्होंने इसका लोर्कापण भी किया था। चुनाव के बाद योगी सरकार द्वारा मंत्रिमंडल (कैबिनेट) की हर बैठक लोकभवन में ही आयोजित हो रही है।
सचिवालय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री कार्यालय भी उसी समय लोकभवन में शिफ्ट होने वाला था, लेकिन सुरक्षा अधिकारियों द्वारा कुछ कमियां उजागर करने के बाद इसे उस समय टाल दिया गया और संबंधित अधिकारियों को सुरक्षा से जुड़ी कमियों को ठीक करने का निर्देश दिया गया।

सचिवालय प्रशासन के प्रमुख सचिव महेश गुप्ता ने बताया कि लोकभवन इस समय बिल्कुल तैयार है। अब यह मुख्यमंत्री को स्वयं तय करना है कि वह अपना कार्यालय कब वहां से संचालित करना चाहते हैं।
मौजूदा समय में मुख्यमंत्री का कार्यालय एनेक्सी (लाल बहादुर शास्त्री) भवन के पांचवें मंजिल पर स्थित है। इसीलिए मुख्यमंत्री का कार्यालय पंचम तल के नाम से ही जाना जाता है। लोकभवन में भी मुख्यमंत्री का कार्यालय पांचवीं मंजिल पर ही होगा।

मुख्यमंत्री ऑफिस शिफ्ट होने के बाद एनेक्सी में भी आवंटन होगा। ऐसे में प्रदेश के कई मंत्री और अधिकारी अब वहां अपना कार्यालय आवंटित कराने की कोशिश में जुट गए हैं। एनेक्सी का निर्माण करीब 36 वर्ष पहले हुआ था। पूर्व मुख्समंत्री वीपी सिंह ने 26 जनवरी, 1982 को इसका उद्घाटन किया था।

लोकभवन में सचिवालय प्रशासन ने विभागवार इस तरह कक्ष आवंटित किए हैं-
प्रथम तल
मुख्य सचिव , अपर मुख्य सचिव अथवा प्रमुख सचिव नियुक्ति विभाग , मुख्य सचिव के स्टाफ अफसर, विशेष सचिव नियुक्ति एवं कर्मिक मुख्य सचिव का सभाकक्ष , मुख्य सचिव के सूचना एवं जनसूचना अधिकारी का कक्ष तथा सिक्यरिटी कंट्रोल रूम।
द्वितीय तल
सचिव मुख्यमंत्री , विशेष सचिव नियुक्ति विभाग एवं स्टाफ कक्ष, मुख्य सचिव कार्यालय क कम्प्यूटर सेल , संयुक्त सचिव ,उप सचिव तथा अनु सचिव नियुक्ति विभाग।
तृतीय तल
एनआईसी कार्यालय, प्रतीक्षालय एवं उप सचिव, अनु सचिव तथा संयुक्त सचिव मुख्यमंत्री और मुख्यमंत्री के अन्य कार्यालय।
चतुर्थ तल
अपर मुख्य सचिव अथवा प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री, विशेष सचिव मुख्यमंत्री, ओएसडी मुख्यमंत्री तथा स्टाफ।
पंचम तल
पंचम तल को पूरी तरह से मुख्यमंत्री के लिए आरक्षित किया गया है।
भूतल
पास निर्गत करने का ऑफिस, सचिव नागरिक उड्डयन तथा स्टाफ के कार्यालय आदि।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper