वर्तमान में पड़ रही अप्रत्याशित गर्मी के दृष्टिगत ग्रामीणों के उपयोग व पशु, पक्षियों आदि को पानी पीने के लिये नहरों व नलकूपों से तालाब भरने के कार्य शीघ्र पूर्ण किये जायें

 


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के जल शक्ति मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने आज उदयगंज स्थित सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के मुख्यालय सभागार में प्रदेश के यॉंत्रिक संगठनों की क्षेत्रवार समीक्षा बैठक की। समीक्षा बैठक में क्षेत्रीय अभियन्ताओं द्वारा राजकीय नलकूपों, लघु डाल नहरों व बड़ी पम्प नहरों के विस्तृत संचालन संबंधी प्रस्तुतीकरण किया गया।

जलशक्ति मंत्री ने निर्देश दिये कि वर्तमान में पड़ रही अप्रत्याशित गर्मी के दृष्टिगत ग्रामीणों के उपयोग व पशु, पक्षियों आदि को पानी पीने के लिये नहरों व नलकूपों से तालाब भरने के कार्य शीघ्र पूर्ण किये जायें। इसके साथ ही उन्होंने निर्देश दिया कि नहरों में टेल तक पानी की पहुंच सुनिश्चित की जाए।

स्वतंत्र देव सिंह ने बैठक में क्षेत्रीय अधिकारियों की समस्याओं को सुना तथा कार्यों में बेहतरी के लिये अनुभव के आधार पर सुझाव भी आमंत्रित किये। उन्होंने सभी अधिकारियों कर्मचारियों से परिश्रम की पराकाष्ठा करते हुए राजकीय दायित्व का निर्वहन करने की अपेक्षा की। जल शक्ति मंत्री ने सख्त निर्देश देते हुए कहा कि सभी अधिकारी अपने क्षेत्र में नियमित रूप से भ्रमण करते हुए जनता से संवाद स्थापित करें और उनकी समस्याओं का त्वरित निराकरण करें। उन्होंने सभी मुख्य अभियंताओं को निर्देश देते हुए कहा कि अपने अपने संगठनों में अनुशासन का पालन सुनिश्चित कराएं। सभी कार्यों का लक्ष्य निर्धारित करते हुए पूर्ण करें तथा यह भी सुनिश्चित करें कि किसी भी स्तर पर किसी भी अधिकारी और कर्मचारी का शोषण ना हो।

समीक्षा बैठक में जलशक्ति राज्यमंत्री श्री दिनेश खटीक तथा श्री रामकेश निषाद के साथ साथ प्रमुख सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग श्री अनिल गर्ग, विशेष सचिव श्रीमती अनिता वर्मा सिंह, प्रमुख अभियन्ता एवं विभागाध्यक्ष श्री एके सिंह, प्रमुख अभियंता परियोजना, प्रमुख अभियंता यांत्रिक, प्रमुख अभियंता नियोजन एवं मूल्यांकन, यांत्रिक के सभी मुख्य अभियन्ता सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper