वाराणसी में राहत कार्य के दौरान दीवार गिरने से डीएम चोटिल

वाराणसी: उत्तर प्रदेश की आध्यात्मिक नगरी वाराणसी में मध्य प्रदेश में भारी बारिश के चलते गंगा नदी खतरे के निशान के ऊपर बह रही है. गंगा नदी के पानी बढ़ने की वजह से वरुणा का जलस्तर भी बढ़ गया है. निचले इलाकों में बाढ़ के पानी ने कई मोहल्लों को अपनी चपेट में ले लिया है. कई लोगों के घरों के भीतर पानी पहुंच चुका है. वरुणा नदी के तट के किनारे कोनिया नामक मोहल्ले में राहत और बचाव कार्य चल रहा था.

बाढ़ से पीड़ित लोगों को राहत सामग्री देने के लिए जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह वहां खुद मौजूद थे. वह एक ऊंची छत पर खड़े होकर राहत सामग्री का वितरण कर रहे थे. उसी समय दबाव बढ़ने की वजह से छत की दीवार टूट गई और जिलाधिकारी नीचे गिर गए. राहत की बात ये रही कि वह पानी में न गिरकर सीधे नाव पर गिरे.

इस नाव में एनडीआरएफ के बचावकर्मी भी मौजूद थे. बचावकर्मी ने जिलाधिकारी को बचाने की कोशिश की लेकिन वह सीधे नाव पर आकर गिरे. स्थिति को नियंत्रित करते हुए जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह तुरंत खड़े हो गए. और दीवार टूटने की वजह से गिरी ईंटों को नाव से बाहर निकालने लगे. इस पूरी घटना का वीडियो वहां मौजूद लोगों ने अपने मोबाइल में कैद कर लिया.

जिलाधिकारी की मुस्तैदी और जज्बे को देख इलाके लोग उनकी तारीफ कर रहे हैं. हालांकि जिलाधिकारी को चोटें भी आईं, बावजूद इसके उन्होंने राहत कार्य को धीमा नहीं होने दिया और इस काम को आगे बढ़ाते चले. डीएम का यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

वाराणसी में लगातार बढ़ रहे गंगा और वरुणा नदी के जल स्तर से पूरा इलाका प्रभावित है. दर्जनों गांव और मोहल्ले इसकी चपेट में आ चुके हैं. लोग अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित ठिकानों पर विस्थापित होने को मजबूर हैं. जिला प्रशासन लगातार लोगों की देखभाल कर रहे है तो वहीं राज्य सरकार पर इस पर निगाहें बनाए हुए है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper