वास्तविक जीवन में है करोड़ों के मालिक, “तारक मेहता” के आत्माराम भिड़े, इस तरह शाही जीवन जीते हैं।

शो तारक मेहता, जो पिछले 12 वर्षों से दर्शकों का मनोरंजन कर रहा है, आज दर्शकों की पहली पसंद बन गया है। हाल ही में, शो के 3000 एपिसोड पूरे हुए और एक भव्य पार्टी का भी आयोजन किया गया। इस धारावाहिक के कथानक के साथ-साथ धारावाहिक के पात्रों को भी दर्शक बहुत पसंद करते हैं। इस शो का ऐसा ही एक चरित्र गोकुल धाम सोसाइटी के एकमात्र सचिव आत्माराम भिड़े हैं। जिसे गुरु भिड़े के रूप में भी जाना जाता है।

अभिनेता मंदार चंदवाकर ने धारावाहिक में आत्माराम भिडे की भूमिका निभाई है। आत्माराम, जो इस धारावाहिक में एक रुपये का हिसाब रखते हैं, उनके वास्तविक जीवन में करोड़ों के मालिक हैं। इतना ही नहीं, उन्होंने कई अलग-अलग अवार्ड शो के अंदर अपने अभिनय का जादू बिखेरा और उनके लिए कई मराठी शो भी किए। आइए जानते हैं मंदार चंदावरकर की जीवनशैली के बारे में।

एक जाने-माने समाचार मीडिया के अनुसार, मंदार के पास 20 करोड़ रुपये की संपत्ति है । मंदार ने “तारक मेहता” के एक एपिसोड के लिए 45,000 रुपये लिए । इसके अलावा, मंदार ने कई पुरस्कार समारोहों में भी प्रदर्शन किया है। उनके पास कई शानदार कारें भी हैं।

मंदार कथित तौर पर एक इंजीनियर हैं लेकिन उन्होंने अभिनय के लिए अपनी नौकरी छोड़ दी। उन्होंने कई मराठी फिल्मों और टीवी शो में भी काम किया है। लेकिन उन्हें अपनी असली पहचान गोकुलधाम के एकमात्र सचिव आत्माराम भिडे के चरित्र के माध्यम से मिली। उन्होंने शो में आने के बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। मंदार का जन्म 27 जुलाई 1976 को हुआ था। वह अभिनय में आने से पहले दुबई में काम करते थे। मंदार पहले मैकेनिक इंजीनियर थे। उन्होंने 1997 से 2000 तक उनके लिए काम भी किया। तारक मेहता शो के कारण मंदार को आज इतनी प्रसिद्धि मिली है कि उन्होंने आज घर घर में अपनी पहचान बनाई है।

Source: Online70media

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper