वास्तु के अनुसार सर्दियों में इस दिशा में रखें हीटर

वास्तु शास्त्र में हर चीज़ को बहुत महत्व दिया है, फिर चाहे वो घर में पड़ा कोई टूटा-फूटा सामान ही क्यों न हो। आज हम आपको कुछ ऐसा ही बताने जा रहे हैं, कि वास्तु शास्त्र में हमारे घर-दुकान में पड़ा हर समान पर हमारे जीवन पर कितना प्रभाव डालता है।

वास्तु शास्त्र में हर चीज़ को बहुत महत्व दिया है, फिर चाहे वो घर में पड़ा कोई टूटा-फूटा सामान ही क्यों न हो। आज हम आपको कुछ ऐसा ही बताने जा रहे हैं, कि वास्तु शास्त्र में हमारे घर-दुकान में पड़ा हर समान पर हमारे जीवन पर कितना प्रभाव डालता है। इसकी मानें बिजली उपकरणों को घर या दुकान में गलत जगह पर रखने से कई तरह की मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए वास्तु विद्वान हिदायत देते हैं कि घर में किसी भी प्रकार के बिजली उपकरण को रखने से पहले वास्तु शास्त्र के नियमों को जान लेना चाहिए ताकि इसका वहां रहने वालों पर बुरा नहीं बल्कि अच्छा प्रभाव पड़े। चाहे बिजली का मीटर हो या फिर फ्रिज, वाशिंग मशीन, कम्प्यूटर, टेलीविजन, हीटर या बिजली के अन्य उपकरण। हर कोई इन्हें अपनी सहूलियत के अनुसार घर में रखता है। लेकिन वास्तु शास्त्र में कहा गया है कि अगर इन सबको अनुकूल दिशा में स्थान दिया जाए तो इससे जीवन में अच्छा बदलाव आता है।

वास्तु और ज्योतिष में ईशान कोण यानि उत्तर-पूर्व दिशा का संबंध आर्थिक समृद्धि से बताया गया है। उसी प्रकार आग्नेय कोण दिशा दक्षिण-पूर्व दिशा का संबंध स्वास्थ्य से होता है। इसलिए कहा जाता है अग्नि तत्व का प्रतिनिधित्व करने वाली ये दिशा बिजली उपकरणों को रखने के लिए सबसे अचछी होती है। दक्षिण-पूर्व दिशा को वास्तु दोष से मुक्त रखना अत्यंत आवश्यक है। यह दिशा अग्नि तत्व का स्थान है। इसलिए, बिजली के सभी उपकरण और मीटर, बिजली का नियंत्रण और वितरण यहीं से होना चाहिए। ऐसा करके अग्नि तत्व को संतुलन में रहता है। क्योंकि कहा जाता है कि अगर अग्नि तत्व असंतुलित हो तो ये तरह-तरह के रोगों को आमंत्रित करता है। अगर इन दोषों को सुधारा न जाए तो कई बार साधारण बीमारियां भी गंभीर रूप ले लेती।

जैसे गर्मी शुरू होते ही लोग इससे राहत पाने के लिए घर में ऐ.सी यानि ऐयर कंडीशनर का प्रयोग करते हैं, ठीक वैसे ही सर्दियों में लोग सर्दी के कहर से बचने के लिए हीटर का इस्तेमाल करते हैं, सेकिन बहुत कम लोग जानते होंगे कि अगर इसे वास्तु के अनुसार न रखा जाए तो इसके कारण घर के सदस्यों को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बता दें कि बिजली उपकरण जैसे इनवर्टर, ट्रांसफार्मर, फ्रिज, हीटर आदि उष्मा यानि कि हीट पैदा करते हैं, इसलिए वास्तु में इनके लिए आग्नेय कोण यानि दक्षिण-पूर्व को सबसे अच्छा बताया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper