वाहन बीमा क्या होता है, जानिए व्हीकल इंश्योरेंस के फायदे

आजकल सब के पास अपना एक व्हीकल होता है, जैसे कार, मोटरबाइक आदि। जब हमें कहीं जाना होता है तो अपने वाहन को लेकर जाते है। लेकिन जाने अनजाने में जब कोई दुर्घटना हो जाती है तो आपको बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। जिस प्रकार हम अपना खुद का बीमा करवाते हैं उसी प्रकार हमें अपने वाहन का बीमा भी करवाना चाहिए जो भी हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

दुर्घटना की स्थिति में व्हीकल का बीमा हमारे लिए फायदेमंद साबित होता है। हमें हमारे व्हीकल में जितना नुकसान होता है उस हिसाब से हमें बीमा का पैसा मिल सकता है जो कि हमारी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने में सहायक सिद्ध होते है इसलिए अपने व्हीकल का बीमा जरूर करवाएं और अपने भविष्य को सुरक्षित रखें।

व्हीकल इंश्योरेंस Vehicle Insurance :

व्हीकल इंश्योरेंस में होने वाले आर्थिक नुकसान हो सकती है। अगर किसी दुर्घटना में हमारे वहिक्ल को नुक्सान हो जाता है तो हमें हमारे नुक्सान के लिए भुगतान के अनुसार और पॉलिसी के अनुसार हमें हमारा पैसा मिलता है।

व्हीकल इंश्योरेंस हमारे और इंश्योरेंस कंपनी के बीच में एक कॉन्टैक्ट होता है जिसके अंतर्गत हम प्रीमियम भरते है और बदले में इंश्योरेंस कंपनी हमारे वाहन को सिक्योर करती है अगर किसी दुर्घटना में हमारा वाहन नष्ट हो जाता है तो कंपनी के एग्रीमेंट के अनुसार हमें मुआवजा मिल सकता है।

व्हीकल इंश्योरेंस के प्रकार Types of Vehicle Insurance :
हमारे यहाँ इंडिया में Vehicle insurance दो प्रकार का होता है।
1 : Third Party बीमा
2 : Full Party बीमा

1. Third party insurance :

इस प्रकार के Insurance में यदि आपके वाहन के साथ कोई दुर्घटना हो जाती है और दुर्घटना के समय अन्य वाहन के चालक या उसकी गाड़ी आदि के नुक्सान होने कि स्थिति में Insurance कंपनी मुआवजा देती है जबकि आपको या आपकी गाड़ी की किसी भी प्रकार की टूट फूट के लिए कंपनी कोई भी क्लेम नहीं देती। इसी कारण इसे Third Party Insurance कहते है। Third Party बीमा मोटर अधिनियम के नियमो के अनुसार अनिवार्य है।

2. Standard Motor Insurance या Full Party Insurance :

यह सबसे सुरक्षित प्रणाली है। इसमें अगर दुर्घटना में होने वाले सभी प्रकार का खामियाजा कम्पनी भुगतना पड़ता है। इस बीमा में, होने वाले नुक्सान जैसे वाहन, वाहन चालक, वहां में बैठे लोग और दुसरे वाहन के लोग और उनकी गाडी की टूट फुट इन सब की भरपाई कम्पनी खुद करती है।

अगर आपके पास चार पहिया व्हीकल है तो कैशलेस इंश्योरेंस आपके लिए सबसे अच्छा रहेगा। इसको
Zero Deprecation Car Insurance भी कहते है।अगर आप इस प्रकार का बीमा करते हैं तो आगे भविष्य में कोई दुर्घटना होती है तो इंश्योरेंस कंपनी द्वारा लिस्ट में दिए गये किसी भी कार गेराज में आप बिना कोई पैसा खर्च किए अपने वाहन को सही करा सकते है। यह एक तेज और आसान तरीका है। इस प्रकार के बीमा के अंतर्गत आपको बहुत सारे फायदे मिलते है। परन्तु यह अन्य Insurance से महंगा भी होता है। परन्तु ये अन्य की अपेक्षा लाभदायक भी होता है।

Property Coverage : इसके अंतर्गत अगर आपका वहिकल चोरी हो जाता है या क्षतिग्रस्त हो जाता है तो उस स्थिति में कंपनी आपको पूरा पैसा देती है।
Liability Coverage : अगर शारीरिक चोट लग जाती है या संपत्ति का नुकसान होता है तो दूसरों को अपनी कानून जिम्मेदारी के लिए भुगतान करना पड़ता है।
Medical Coverage : इसके अंतर्गत इलाज और उसके होने वाले खर्च के लिए कंपनी द्वारा भुगतान करना पड़ता है।

हम आपके मंगलमय जीवन की कामना करते है। उम्मीद करते है आपको जानकारी अच्छी लगी होगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper