विकास दुबे की सूचना देने वाले को मिलेगा 5 लाख का इनाम, कुएं खंगालने के बावजूद एसटीएफ के हाथ खाली

कानपुर: हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की तलाश जारी है लेकिन अभी तक एसटीएफ और पुलिस के हाथ उस तक पहुंच नहीं पाए। विकास को गिरफ्तार करने के लिए अब 50 टीमें बनाई गई हैं। विकास की सूचना देने वालों के लिए पुलिस ने इनाम राशि बढ़ाकर 5 लाख कर दी है। यह इनाम राशि पहले 50,000 रुपये थी। विकास की तलाश में बिकरू गांव में डेरा डालने वाली पुलिस ने कुएं तक खंगाले मारे लेकिन दुबे नहीं मिला। पुलिस सूत्रों ने बताया कि घटना के बाद पुलिस कर्मियों के असलहे लूटे गए थे। पुलिस को शक है कि विकास ने पुलिस से लूटे गए हथियार या अन्य सबूतों को छिपाने के लिए कुओं में फेंका होगा।

उधर, फरीदाबाद में विकास दुबे के हूबूहू एक व्यक्ति की सीसीटीवी फुटेज सामने आई है। सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि कैसे पुलिस के आने से पहले वह एक ऑटो में सवार होकर भाग गया। सीसीटीवी फुटेज में साफ दिख रहा है कि विकास रोड पर खड़ा ऑटो का इंतजार कर रहा है। मिठाई की एक दुकान के सामने खड़ा विकास करीब पांच मिनट तक वहां इंतजार करता रहा। उसने काले रंग की शर्ट, जींस और मास्क पहना हुआ था। उसके कंधे पर एक बैग भी देखा गया है। माना जा रहा है कि वह अपना सामान लिए इधर-उधर छिपता फिर रहा है। जिस इलाके में विकास को देखा गया, वहां के एक शख्स ने एक चैनल से बातचीत में कहा कि पुलिस ने विकास को देखा था मगर पहचान नहीं सकी। यानी उसका हुलिया थोड़ा बदला हुआ है।

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बुधवार को विकास दुबे को लेकर प्रेस कांफ्रेंस की, लेकिन उनका पूरा जोर यूपी में घटते क्राइम ग्राफ के आंकड़े गिनाने में रहा। उत्तर प्रदेश पुलिस के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने कहा कि कानपुर घटना में नामित और वांछित अमर दुबे को आज सुबह मार गिराया गया है। इस बदमाश के पास से एक सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल बरामद किया गया है। एडीजी ने बताया कि इस मामले में संजीव दुबे और जहान यादव नाम के दो अन्य आरोपियों को भी पकड़ा गया है। संजीव दुबे नामजद नहीं है लेकिन उसका नाम आया है इसलिए पुलिस ने उसे पकड़ा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper