विपक्षी दलों के एक मंच पर आने से प्रधानमंत्री की उड़ी नींद: डाॅ.मसूद

लखनऊ ब्यूरो। राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व शिक्षा मंत्री डाॅ. मसूद अहमद ने सोमवार को यहां कहा कि विपक्षी दलों के एक मंच पर आने से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नींद उड़ गई है। इसलिए विपक्षी दलों के गठबंधन को वे भ्रष्टाचार का गठबंधन कहकर स्वयं अपनी खिल्ली उड़ा रहे हैं।

डाॅ.अहमद ने कहा कि लोकसभा चुनाव की घोषणा तक भारतीय जनता पार्टी के सभी घटक दल साथ छोड़ जायेंगे। विपक्षी दलों ने सत्ता से भाजपा को उखाड़ फेंकने के लिए निःस्वार्थ भाव से कदम बढ़ाया है ,क्योंकि भाजपा की देश और प्रदेश की सरकार ने किसानों, मजदूरों और कामगारों के साथ बेरोजगार नवयुवकों को धोखा दिया है।

किसानों की जितनी आत्महत्याएं भाजपा शासन में हुयी उतनी देश के इतिहास में कभी नहीं हुयी। नोटबंदी के समय हजारों कारखाने बंद हो गये, जिससे लाखों मजदूर और कामगार बेकार हो गये और अपने परिवार की रोजी रोटी चलाने के लिए काम की तलाश में दर -दर भटक रहे हैं। बेरोजगार नव युवकों को दो करोड़ रोजगार प्रतिवर्ष देने का वादा करने वाले प्रधानमंत्री बेरोजगारों को पकौड़ा बेचने का पाठ पढ़ा रहे हैं।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि देश की जनता ने गठबंधन को वोट देकर भाजपा को सत्ता से बाहर करने का संकल्प कर लिया है। इसका प्रमाण सूबे में गत दिनों हुए तीन लोक सभा और एक विधान सभा उपचुनाव में देखने को मिला है। देश की जनता सम्पूर्ण विपक्षी दलों के गठबंधन से खुश है क्योंकि उसमें चौधरी चरण सिंह के सपनों का भारत बनने के आसार नजर आ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा की कथनी और करनी में बहुत अंतर है। इसलिए उसके साथ जुड़े घटक दल एक-एक करके उसे छोड़ देंगे और आने वाले लोकसभा चुनाव में पूंजीपतियों की सरकार न होकर किसानों, मजदूरों और बेरोजगारों की सरकार होगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper