विमान खरीदार भारत बना तीसरा सबसे बड़ा देश, 1,000 से अधिक विमानों का ‎दिया ऑर्डर

नई दिल्ली: भारतीय विमानन कम्पनियों द्वारा 1,000 से अधिक विमानों के ऑर्डर के साथ ही अमरीका और चीन के बाद भारत तीसरा सबसे बड़ा विमान खरीदार देश बन गया है। भारतीय आकाश में करीब 550 वाणिज्यिक विमान उड़ान भर रहे हैं। इस प्रकार विमानन कम्पनियों ने फिलहाल सेवा में हरेक विमान के लिए औसतन 2.2 विमानों का ऑर्डर दिया है।

विमानन सलाहकार फर्म सीएपीए के अनुसार यह किसी भी प्रमुख विमानन बाजार के लिए सर्वाधिक आंकड़ा है। विमानों की खरीदारी में सबसे अधिक दिलचस्पी इंडिगो, स्पाइसजैट, गोएयर और एयर एशिया इंडिया जैसी सस्ती विमानन सेवाओं ने दिखाई है। इन सब विमानन कम्पनियों ने घरेलू बाजार में अपना वर्चस्व कायम करने के लिए 5 घंटे तक उड़ान भरने वाले नैरो बॉडी एयरक्राफ्ट पर दांव लगाया है।

इंडिगो ने विश्व में सबसे अधिक विमानों के लिए ऑर्डर दिए हैं और अगले 7 वर्षों में वह अपने बेड़े में करीब 450 विमानों को शामिल करना चाहती है। इंडिगो के ऑर्डर में 50 एटीआर-72 विमान भी शामिल हैं जिन्हें पिछले साल क्षेत्रीय मार्गों पर लगाया गया है।

हालांकि प्रैट एंड व्हिटनी इंजन की तकनीकी खामियों के कारण बेड़े में नए विमानों को शामिल करने की रफ्तार सुस्त पड़ सकती है क्योंकि इंडिगो के ए320 नियो विमानों में इसी इंजन का इस्तेमाल किया गया है लेकिन कम्पनी सूत्रों ने कहा कि विमानन कम्पनी पट्ट बाजार के बल पर अपने बेड़े में सालाना 20 प्रतिशत वृद्धि के लक्ष्य को बरकरार रखेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper