वैज्ञानिक भी आजतक नहीं सुलझा पाए रहस्यमय पत्थर के मटकों का राज !

इस दुनिया के रहस्यों में कोई कमी नहीं हैं जिनमे से कुछ ऐसे हैं जो अविश्वसनीय हैं और वैज्ञानिक भी उनके रहस्यों में उलझ गए। आज हम आपको एक ऐसी ही जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका नाम हैं ‘प्लेन ऑफ जार’ यानी ‘जार का मैदान’। यह जगह एशियाई देश लाओस में स्थित हैं और यहां बड़े-बड़े पत्थरों से बने हजारों रहस्यमय मटके हैं जिसका रहस्य कोई भी नहीं जाना पाया हैं।

लाओस के शियांगखुआंग प्रांत में 90 से अधिक ऐसी जगहें हैं, जहां 400 से अधिक पत्थर के जार यानी मटके हैं। कई मटकों के ऊपर तो पत्थर के ढक्कन भी मिले हैं। बताया जाता है कि इन मटकों की ऊंचाई एक से तीन मीटर तक है। वियतनाम युद्ध के दौरान 1964 से 1973 के बीच अमेरिकी वायु सेना ने शियांगखुआंग प्रांत में 26 करोड़ से अधिक क्लस्टर बम गिराए थे। हालांकि इनमें से कई करोड़ ऐसे थे, जो फटे ही नहीं थे। पत्थरों के मटके वाले कई इलाकों में ये बम आज भी वैसे के वैसे ही पड़े हुए हैं। हालांकि कुछ जगहों से इन बमों को हटा लिया गया है।

पुरातत्वविदों का मानना है कि ये हजारों रहस्यमय पत्थर के बने मटके लौह युग के हैं। हालांकि उस समय ये क्यों बनाए गए थे, इसका रहस्य आज भी स्पष्ट नहीं है। लेकिन कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि शायद इनका इस्तेमाल अंतिम संस्कार के वक्त अस्थि कलश के तौर पर किया जाता होगा। इस रहस्यमय और अनोखी जगह को यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल का दर्जा मिला है। लाओस की सरकार ने इसके लिए बहुत पहले आवेदन कर दिया था, जिसके बाद छह जुलाई 2019 को इसे विश्व के धरोहर स्थलों में शामिल किया गया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper