वैष्णो देवी यात्रा फिर हुई शरू, बर्फबारी और भूस्खलन के कारण हुए थी स्थगित

जम्मू: जम्मू कश्मीर में पिछले काफी से जारी बर्फबारी, बारिश और भूस्खलन के कारण वैष्णो देवी की यात्रा को स्थगित कर दिया गया था। हालांकि, गुरुवार (06 जनवरी) को वैष्णो देवी यात्रा पुन शुरू हो गई है। यात्रा के साथ ही हेलीकॉप्टर सेवा भी फिर से शुरू हो गई है। तो वहीं, जम्मू के स्थानीय नागरिक ने बताया, ‘पिछले 3-4 दिनों से बहुत ज़्यादा बारिश और बर्फ़बारी हो रही है जिसकी वजह से सर्दी बहुत हो गई है। सर्दी ज़्यादा होने की वजह से लोग बाज़ारों में भी कम आ रहे हैं।’

अर्द्धकुंवारी भवन मार्ग पर हो रही लगातार बारिश के कारण बैटरी कार मार्ग पर पंछी हेलिपैड के समीप भूस्खलन हुआ था। इसके चलते श्रद्धालुओं की आवाजाही के लिए मार्ग को बंद कर दिया गया था। बैटरी कार सेवा को भी स्थगित कर दिया गया था। श्रद्धालुओं को यात्रा के लिए पारंपरिक मार्ग की ओर जाने के लिए कहा जा रहा था। लेकिन बुधवार देर शाम को भारी बारिश को देखते हुए माता वैष्णो देवी यात्रा स्थगित कर दिया गया था। इस संबंध में श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने जानकारी देते हुए बताया कि खराब मौसम के बाद, यात्रा 6 जनवरी की सुबह तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

06 जनवरी को माता वैष्णो देवी यात्रा फिर से शुरू हो गई है। यात्रा के साथ ही हेलीकॉप्टर सेवा भी फिर से शुरू हो गई है। हालांकि, श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की तरफ से श्रद्धालुओं को यात्रा के दौरान ध्यान से यात्रा करने के लिए निर्देशित किया जा रहा है। श्राइन बोर्ड ने बताया कि बुधवार को 18,000 श्रद्धालुओं ने की पूजा अर्चना की। वहीं इससे पहले श्राइन बोर्ड ने अहम मंदिर परिसर में भीड़ को रोकने के लिए बड़ा फैसला किया है। इस फैसले के मुताबिक, वैष्णो देवी आने वाले श्रद्धालुओं को माता के दर्शन करने के लिए पहले ऑनलाइन बुकिंग करानी होगी, जो पर्ची का सिस्टम वहां था, उसे हमेशा के लिए बंद कर दिया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper