शक्ति मिल गैंगरेप का अभियुक्त फिर गिरफ्तार, फोटो जर्नलिस्ट से किया था बलात्कार

मुंबई: रेप और गैंग रेप केसों में जब नाबालिग अभियुक्त बहुत कम सजा के बाद जेल या सुधारगृह से छोड़ दिए जाते हैं, तो अक्सर यह सवाल उठता है कि उन्हें बालिग आरोपी जितनी सजा क्यों नहीं मिलती? यह सवाल बुधवार को फिर उठा, जब बांद्रा क्राइम ब्रांच ने शक्ति मिल गैंग रेप के आरोपी आकाश जाधव को नए केस में गिरफ्तार किया है। आकाश के साथ अंकित नाईक नामक आरोपी को भी पकड़ा गया है।

सीनियर इंस्पेक्टर नंदकुमार गोपाले ने बताया कि आकाश जाधव शक्ति मिल गैंग रेप केस में नाबालिग था, इसलिए वह तीन साल ही सुधारगृह में रहा। बाद में जब वह बाहर आया, तो उसने खुद का अपना गिरोह बनाया। इसी गिरोह से जुड़े आकाश और अंकित ने 28 फरवरी, 2021 को बांद्रा में एक झोपड़पट्टी में 28 साल के रिजवान कुरैशी पर चाकू से कातिलाना हमला किया था। संबंधित व्यक्ति का अभी भी सायन अस्पताल में इलाज चल रहा है।

डीसीपी अकबर पठान को मिली वारदात की सूचना
जब डीसीपी अकबर पठान को इस वारदात की सूचना मिली, तो उन्होंने बांद्रा क्राइम को केस इनवेस्टिगेशन के लिए सौंपा। उसी में सात रास्ता सर्किल पर दोनों आरोपी गिरफ्तार हुए। जब पूछताछ हुई, तो पता चला कि शक्ति मिल गैंग रेप केस में बाहर आने के बाद आकाश ने करीब एक दर्जन संगीन अपराध किए।

फोटो जर्नलिस्ट से किया रेप
22 अगस्त 2013 को शक्ति मिल में एक फोटो जर्नलिस्ट अपने एक दोस्त के साथ ऑफिस के असाइंनमेंट के लिए आई थी। शाम के 6 बजे दोनों शक्ति मिल कंपाउंड गए और वहां फोटो लेने लगे। तभी कुछ लोग पुलिसवाला बताकर उसके पास आए। फोटो जर्नलिस्ट और उनके दोस्त की ओर से वहां के फोटो खींचने पर आपत्ति की और फिर उन्हें अंदर ले गए। वहां दोस्त का बांध दिया गया, जबकि फोटो जर्नलिस्ट के साथ रेप किया। इस वारदात से पूरा देश हिल गया था। जब आरोपी गिरफ्तार हुए, तो उन्होंने बताया कि इस वारदात से कुछ दिन पहले भी उन्होंने इसी तरह एक और लड़की के साथ गैंग रेप किया था।

यह था मामला
अप्रैल 2014 में दोनों गैंगरेप केस में सेशन कोर्ट ने विजय जाधव (19 साल), मोहम्मद क़ासिम शेख (21 साल) और मोहम्मद अंसारी (28 साल) को फांसी की सज़ा सुनाई थी। सिराज नामक चौथे आरोपी को उम्रक़ैद की सुनाई गई थी। शक्ति मिल रेप की उस घटना में आकाश भी शामिल था। लेकिन चूंकि वह और उसका एक साथी नाबालिग था, इसलिए दोनों नाबालिगों को जुवेनाइल कोर्ट ने 3 साल के लिए नासिक के बाल सुधार गृह भेज दिया था। वहां से आजादी मिलने के बाद अतीत से आकाश ने कुछ नहीं सीखा और अपनी एक गैंग बनाई और लोगों पर आतंक फैलाना शुरू कर दिया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper