शरीर में टैटू बनवाने से पहले जान लें यह बात, बाद में भुगतने पड़ सकते हैं गंभीर परिणाम

लखनऊ: टैटू गुदवाने का शौक तो करीब करीब सबको होता है और कुछ लोग तो पुरे सरीर पे टैटू बनवा के बड़ी शान से घूमते है लेकिन क्या आप जानते है की ये सरीर के लिए बहुत ही ज्यादा खतरनाक है ये सीधे आपके हार्ट पे असर कर सकता है , तो आज मैं आपको इसी के बारे में विस्तार से बताऊंगा …

जर्नल ऑफ अप्लाइड फिजियोलॉजी के रिसर्च में ये पाया गया है की जब भी कोई स्किन पर टैटू बनाता है तो उस इंसान के अंदर पसीना कंट्रोल करने की क्षमता काफी घट जाती है और इस कारण बॉडी का टेम्प्रेचर बढ़ता है और इसी वजह से हाइपोथर्मिया और हार्ट अटैक का रिक्स काफी बढ़ जाता है ,

आपको बताते चले हमारा स्किन पसीने की मदद से बॉडी के टेम्प्रेचर को मेन्टेन रखने का काम करता है इसमें मुख्य घातक होते है बॉडी में पाई जाने वाले एक्क्रिन ग्रंथियां, आपको सायद पता ना हो टैटू बनवाने पर स्किन पर प्रति मिनट 3 हजार पंचर करने की आवश्कता होती और इसका सीधा सीधा प्रभाव पसीना कंट्रोल करने वाली ग्रंथि पर हो सकता है,एक और शोध की माने तो टैटू वाली स्किन में सोडियम की मात्रा ज्यादा पाई जाती है, जो पसीना कंट्रोल करने वाली ग्रंथि के काम में बाधा पैदा करती है इसलिए हाइपोथर्मिया और हार्ट अटैक का खतरा रहता है !

स्किन ब्लड सर्कुलेशन की जांच के लिए लेजर का उपयोग किया जाता है उसमे यह पाया गया की स्किन पर टैटू होने से बॉडी को टेम्प्रेचर मेंटेन करने में काफी दिक्कत आती है इस बॉडी का ज्यादा तापमान मतलब हार्ट अटैक का खतरा ,हार्ट अटैक होने की संभावना तब ज्यादा होती है जब बॉडी का टेम्प्रेचर 40 डिग्री सेल्सियस के पार चला जाता है !

तो अब आपको पता लग गया होगा की टैटू हमारे सरीर के लिए कितना खतरनाक है इसलिए अगर आप भी टैटू करवाने की सोच रहे थे तो सावधान हो जाइये !

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper