शर्मनाक! इंसान को मारकर उनके मांस से अचार और बिस्कुट बनाकर खाते थे ये दोनों पति-पत्नी, रेस्त्रा में भी बेचते थे अपना माल

इस दुनिया में कई सारी ऐसी घटनाएं होती है जिनके बारे में जानकारी लोग हैरान हो जाते हैं। साल 2017 में भी एक ऐसी घटना रूस के सामने आई थी यहां से एक दंपत्ति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तारी के समय इस कपल पर एक वेट्रेस के साथ एक अन्य व्यक्ति को मारने और उसके मांस को खाने का आरोप लगा था लेकिन गिरफ्तारी के बाद इस कपल ने अपने किस्से सुनाकर लोगों को हैरान कर दिया।

दरअसल, रूस के क्रासनोदर शहर में पुलिस को गश्त के दौरान एक मोबाइल फोन मिला। पुलिस ने जब फोन पुलिस ने जब फोन चेक किया तो उसमें कैसी फोटो दिखाई दी जिसमें आदमी मानव शरीर के साथ सेल्फी ले रहा था इस तस्वीर को देखने के बाद पुलिस ने चेल्सी के लिए शख्स की तलाश शुरू कर दी छानबीन के दौरान पुलिस दिमित्री बाकेशेव और उसकी पत्नी नतालिया को क्रासनोदर शहर से गिरफ्तार किया।

पुलिस से पूछताछ के दौरान इस कपल ने स्वीकार किया कि उन्होंने 30 से अधिक लोगों को मारकर उनके मांस के अचार बनाकर लोकल रेस्टोरेंट में भेज दिए इस मामले के बाद रूस के कई शहरों में सनसनी फैल गई थी। इस कपल के घर की तलाशी ली गई तो पुलिस ने 8 लोगों के शरीर के अंग बरामद किए थे इसके साथ ही पुलिस को इस कपल के घर से 9 लोगों की खाल भी बरामद हुई है। कपल ने अपने घर में तहखाना बना रखा था जहां भी अपनी शिकार हुए लोगों के बॉडी पार्ट सकते थे और फिर उन्हें साथ में रखकर सेल्फी लेते थे

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper