शहर में दो रूट पर दौडेगी मेट्रो, नाथ मंदिर कॉरिडोर की परिक्रमा कराने की तैयारी। कमिश्नर ने बरेली विकास प्राधिकरण अफसरों के साथ की बैठक

 

बरेली ,12 जनवरी । मुख्यमंत्री के निर्देश पर शहरी जीवन स्तर को सुधारने और ट्रैफिक से लोगों को मुक्ति दिलाने के लिए बरेली में लाइट मेट्रो परियोजना का ब्लूप्रिंट तैयार किया गया है। बरेली में जंक्शन से लेकर एयरपोर्ट तक दो रूट पर मेट्रो दौड़ेगी। कमिश्नर संयुक्ता समद्दार, बीडीए उपाध्यक्ष जोगिंदर सिंह, सचिव योगेन्द्र समेत अधिकारियों के सामने कंसल्टेंट्स राइट्स के द्वारा पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन किया गया। इसमें प्रथम कारीडोर में बरेली जंक्शन से चौकी चौराहा, सेटेलाइट, रूहेलखंड, यूनिवर्सिटी होते हुए फनसिटी तक मेट्रो दौड़ेगी। दूसरा कारीडोर चौकी चौराहे से कुतुबखाना, कोहाडापीर, डीडीपुरम होते हुए आईवीआरआई रोड का प्रस्ताव दिया गया। कमिश्नर ने मेट्रो परियोजना में शहर के मुख्य प्वाइंट 300 बेड हॉस्पिटल, कर्मचारी नगर मिनी बाईपास, सुभाषनगर, किला चौराहा, कुदेशिया फाटक, इज्जतनगर, रेलवे स्टेशन को शामिल करने के निर्देश दिए हैं। 17 जनवरी को मेट्रो परियोजना के संबंध में दोबारा बैठक बुलाई गई है।

बरेली विकास प्राधिकरण के सहयोग से बनाया जा रहा नाथ मंदिर कॉरिडोर में बरेली के अलखनाथ, मढ़ीनाथ, तपेश्वर नाथ, धोपेश्वर नाथ, पशुपतिनाथ, बनखंडी नाथ, त्रिवटी नाथ मंदिर को जोड़ते हुए नाथ मंदिर कारीडोर बनाए जाने का प्रस्ताव सिटी डेवलपमेंट प्लान में दिया गया। प्लान में कंसलटेंट एजेंसी ने नाथ सर्किट में बस संचालन में आने वाली व्यवहारिक समस्याओं पर विचार नहीं किया था। कमिश्नर ने निर्देश दिए कि नाथ मंदिर कॉरिडोर को मेट्रो स्टेशन से भी कवर किया जाए। इसके अलावा सभी मंदिरों पर श्रद्धालु इलेक्ट्रिक बसों से पहुंचे। इसके संबंध में मंदिरों और रास्तों में आने वाली समस्याओं का समाधान करें। बरेली जंक्शन और बदायूं रोड पर स्टॉपेज बनाकर छोटे वाहनों से मंदिर तक दर्शनार्थियों को ले जाने को लेकर दोबारा से उसका प्रस्ताव तैयार करें। जिससे नाथ कारीडोर के अंतर्गत मंदिरों पर आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की असुविधा न हो। उनके लिए टॉयलेट, पेयजल, प्रकाश व्यवस्था एवं पार्किंग की व्यवस्था बनाई जाए। मंदिरों को जोड़ने वाले मार्गों के विकास हेतु पर्यटन विभाग को प्रचार-प्रसार कर कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए।इसकी डीपीआर 17 जनवरी को प्रस्तुत होगी ।

लखनऊ ट्रिब्यून से विशेष वार्ता में कमिश्नर ने बताया कि बरेली विकास प्राधिकरण और कंसलटेंट एजेंसी को निर्देश दिए हैं कि साबरमती रिवरफ्रंट की तर्ज पर रामगंगा नगर रिवरफ्रंट को विकसित किया जाए। एसटीपी ड्रेनेज सुविधा को प्रोजेक्ट में शामिल करें। आवश्यकतानुसार शहर में फोर लेन और सिक्स लेन रोड में परिवर्तित करें। इसके अलावा कमिश्नर ने कहा कि आईटी पार्क, सोलर पार्क, बूस्ट इकोनामिक एंप्लॉयमेंट, इकोनामिक ग्रोथ रोजगार को भी बढ़ावा मिलेगा। बरेली से ए सी सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper