शाह मंत्री बने तो नड्डा या प्रधान होंगे नए अध्यक्ष

नई दिल्ली: भाजपा में अब इस बात की चर्चाएं तेज हो गई हैं कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की मोदी सरकार में क्या भूमिका होगी? माना जा रहा है कि शाह को प्रधानमंत्री मोदी के नए मंत्रिमंडल में कोई अहम जिम्मेदारी मिलनी तय है। अगर शाह मोदी कैबिनेट में जिम्मेदारी संभालते हैं तो फिर यह भी तय है कि पार्टी उनसे संगठन के अध्यक्ष पद को छोडऩे के लिए कहेगी। 17वीं लोकसभा चुनावों के लिए जब अमित शाह ने गांधी नगर से अपना नामांकन भरा था, तभी से इस बात सुगबुगाहटें तेज हो गई थीं कि चुनावों के बाद प्रधानमंत्री मोदी की नई सरकार में अमित शाह किसी अहम जिम्मेदारी को जरूर संभालते नजर आएंगे।

अब गुरुवार (30 मई) को जब राष्ट्रपति भवन में नई सरकार के गठन के लिए शपथ समारोह शुरू होगा, तब प्रधानमंत्री मोदी के नए कैबिनेट की तस्वीर साफ होगी। साथ ही इस पर से भी पर्दा उठ जाएगा कि अमित शाह को मोदी कैबिनेट में जगह मिलती है या नहीं। पार्टी में इस बात को लेकर चर्चाएं तेज हैं कि अगर शाह सरकार में जिम्मेदारी संभालते हैं तो फिर उन्हें पार्टी की जिम्मेदारी छोडऩी होगी। क्योंकि भाजपा एक व्यक्ति- एक पद के सिद्धांत पर काम कर रही है। ऐसे में ये चर्चाएं भी जोरों पर चल रही हैं कि अगर शाह मंत्रिमंडल में आते हैं तो फिर जेपी नड्डा या धर्मेंद्र प्रधान में से किसी एक को बीजेपी के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दी जा सकती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper