शाह से मिलने दिल्ली रवाना हुए असंतुष्ट राजभर, दो बजे होगी मुलाकात

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने पार्टी से असंतुष्ट सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सभासपा) के अध्यक्ष और उत्‍तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर को मुलाकात के लिए दिल्‍ली बुलाया है। इससे पहले राजभर ने कहा था कि यदि उनसे अमित शाह ने बात नहीं की तो उनकी पार्टी राज्‍यसभा चुनाव का बहिष्‍कार करेगी। खबर है कि अमित शाह से मिलने के लिए वह दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं।

पार्टी सूत्रों के अनुसार उनकी दोपहर दो बजे दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात होगी। इस अवसर पर भाजपा की उप्र इकाई के अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय और उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा भी मौजूद रहेंगे। यूपी उप-चुनाव में हार के बाद राजभर के इस बयान ने राज्यसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा की परेशानी बढ़ा दी है। योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री राजभर ने कहा है कि राज्यसभा के चुनाव में उनकी पार्टी भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में ही मतदान करेगी। इस संबंध में अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है। राजभर ने कहा कि यदि भाजपा अध्यक्ष ने उनसे बात नहीं की, तो उनकी पार्टी राज्य सभा चुनाव का बहिष्कार करेगी।

बताया जाता रहा है कि भाजपा नेता और मंत्री सुरेश खन्ना को राजभर को मनाने का जिम्मा सौंपा गया है। हालांकि यह भी कहा जा रहा है कि राजभर इस मामले में अमित शाह के अलावा किसी और से बात करने को तैयार नहीं है। भाजपा नेताओं पर पर निशाना साधते हुए राजभर ने कहा 325 सीटों के नशे में ये लोग पागल होकर घूम रहे हैं।

राजभर ने कहा हमसे न तो भाजपा ने सम्पर्क किया है और न ही विपक्ष ने। इसलिए हमने विकल्प खुले रखे हैं। हम भाजपा नहीं है, बल्कि अलग पार्टी हैं। गठबंधन धर्म के तहत भाजपा ने न उम्मीदवार तय करते समय हमसे पूछा और न ही नामांकन के लिए बुलाया। ये लोग कहते कुछ और हैं। करते कुछ और हैं। संगठन से लेकर सरकार तक के किसी कार्यक्रम में हमें पूछा नहीं जाता, न ही राय ली जाती है। गठबंधन में हम क्या केवल हाजिरी देने के लिए हैं? इसलिए हम आंख मूंद कर हर फैसले के साथ नहीं खड़े हो सकते।’

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper