शिवपाल की सदस्यता खत्म करने पर बोले अखिलेश, ऐसा कोई काम नहीं करेंगे जिससे अन्याय हो

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने शुक्रवार को चाचा शिवपाल यादव के नई पार्टी बनाने पर उनकी विधानसभा सदस्य की सदस्यता रद्द नहीं करने की बात कही. उन्होंने कहा कि वे ऐसा कोई काम नहीं करेंगे, जिससे अन्याय दिखाई दे.लखनऊ में समाजवादी पार्टी मुख्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. अखिलेश ने कहा कि सपा की लड़ाई बीजेपी से है. सीबीआई मसले पर बोलते हुए अखिलेश ने कहा देश की कई संस्थाओं पर प्रश्न चिन्ह लग रहा है. कौन किसको बचा रहा है. हमें सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा है. सीबीआई के ज़रिए लोगों को सरकारों ने डराया. हमें भी डराया गया.

राफेल डील पर सवाल खड़े करते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी को स्थिति साफ करनी चाहिए. वे साफ दामन की बात करते थे. उन्हें सच्चाई बतानी होगी. हम जेपीसी जांच की मांग करते हैं. सुनने में तो यह भी आ रहा है कि राफेल विमान पहले दो पायलट उड़ाने वाले थे. अब एक उड़ाएगा. सरकार को जवाब देना होगा.अखिलेश ने कहा कि बीजेपी शिलान्यास का शिलान्यास और उद्घाटन का उद्घाटन कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार ने यूनिवर्सिटी का काम रोक दिया. मेडिकल कॉलेज जो बनने थे, उसका काम रोक दिया. कोई सड़क नहीं बनाई. बिना इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास नहीं हो सकता. इन्वेस्टमेंट सम्मिट में चाइनीज़ लाइट लगाई गई. उसमें भी घोटाला हो गया.

इस मौके पर अखिलेश यादव ने पहली बार वोट डालने जा रहे युवाओं से अपील की आने वाले चुनाव में सपा को जीताएं. उन्होंने कहा कि युवा वोटर सपा की तरफ देख रहा है. गठबंधन पर उन्होंने कहा कि जहां हो चुका है वहां चुनाव लड़ रहे हैं. बसपा से बातचीत चल रही है

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper