शिवराज, तोमर और राकेश की तिकड़ी को मध्य प्रदेश चुनाव जिताने की जिम्मेदारी

भोपाल: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के पद पर राकेश सिंह की नियुक्ति से स्पष्ट हो गया है कि भारतीय जनता पार्टी एवं केंद्रीय संगठन ने विधानसभा चुनाव 2018 की जिम्मेदारी, पूर्ण रुप से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के ऊपर डाल दी है।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मप्र में बड़ा ना तो कोई चेहरा है, और नाही ऐसा कोई नेता था, जो 7 माह के अंदर मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव जिताने की जिम्मेदारी ले पाता। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए केंद्रीय संगठन द्वारा जिन लोगों को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की चर्चा थी । उस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की सहमति नहीं मिलने पर, केंद्रीय संगठन ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की पसंद पर ही मोहर लगा दी है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और राकेश सिंह की तिकड़ी मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव को जिताने के लिए जिम्मेदार होगी। भारतीय जनता पार्टी का केंद्रीय संगठन नरेंद्र सिंह तोमर को यह कमान सौंपना चाहती थी। किंतु नरेंद्र सिंह तोमर इसके लिए तैयार नहीं हुए।

इसके बाद नरोत्तम मिश्रा को केंद्रीय संगठन प्रदेश अध्यक्ष की बागडोर सौंपना चाहता था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह इस पर सहमत नहीं हुए। इसके बाद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने शिवराज सिंह चौहान और नरेंद्र सिंह तोमर द्वारा राकेश सिंह के नाम पर सहमति व्यक्त किए जाने पर उन्हें मध्य प्रदेश चुनाव की संपूर्ण जिम्मेदारी सौंप दी है । अब इस तिकड़ी पर जिम्मेदारी है कि वह चौथी बार भारतीय जनता पार्टी की सरकार मध्यप्रदेश में बनाएं।

नहीं होगा बड़ा फेरबदल

राकेश सिंह के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी संगठन में कोई बड़ा फेरबदल नहीं होगा । नंदकुमार सिंह चौहान के टाइम पर बनी संगठन की एक टीम चुनाव में आगे भी काम करेगी। केंद्रीय संगठन ने मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में इसी तिकड़ी को सभी फैसले लेने के लिए अधिकार दिए हैं।

हार-जीत का ठीकरा शिवराज के सिर

केंद्रीय नेतृत्व में मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव की सभी जिम्मेदारी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सिर पर डाल दी है । टिकट वितरण से लेकर अन्य सभी कामों के लिए यही कमेटी जिम्मेदार होगी। यदि विधानसभा चुनाव में जीत मिलती है तो इसका श्रेय शिवराज सिंह चौहान को ही मिलेगा। यदि पार्टी को पराजय का सामना करना पड़ा, ऐसी स्थिति में उसका ठीकरा भी शिवराज सिंह चौहान के सिर पर ही फोड़ने की तैयारी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper