शोध में हुआ खुलासा, पुरुष म‎हिलाओं से ज्यादा खुद को समझते हैं स्मार्ट

न्यूर्याक: एक स्टडी में सामने आया ‎कि पुरुष खुद को जरूरत से ज्यादा स्मार्ट समझते हैं। वहीं महिलाएं खुद को वास्तविकता से कम समझती हैं। इसमें यह भी खुलासा हुआ कि अपनी खुद की इंटेलिजेंस को लेकर स्टूडेंट्स दूसरे से तुलना करते हैं तो उनकी समझ पर जेंडर का खासा असर पड़ता है। इस शोध के दौरान अमेरिका के ऐरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी की डॉक्ट्रल स्टूडेंट कैटलिन कूपर ने अकैडमिक अडवाइजर के तौर पर 100 से ज्यादा स्टूडेंट्स से बात की और उन्हें इस रिसर्च का आइडिया आया।

कूपर ने ‎बताया ‎कि “मैने स्टूडेंट्स से पूछा कि उनकी क्लासेज कैसी रही और इस दौरान मैंने एक ट्रेंड को नोटिस किया।” बता दें ‎कि कूपर, इस रिसर्च के लीड ऑथर हैं और यह रिसर्च जर्नल अडवांसेज इन फिजिऑलजी एजुकेशन में छपी है। उन्होंने आगे बताया ‎कि “बार-बार पूछने के बाद भी ज्यादातर महिलाएं मुझे यही बताती थीं कि हमें अक्सर इस बात का डर लगा रहता है कि दूसरे स्टूडेंट्स को लगता है कि हम कितने मूर्ख हैं। मैं उसी बायॉलजी क्लास के पुरुष स्टूडेंट्स को कभी यह बात कहते नहीं सुना, लिहाजा मैं इस विषय पर और ज्यादा स्टडी करना चाहती थी।”

अनुसंधानकर्ताओं ने बायॉलजी कोर्स में भर्ती लेने वाले 250 स्टूडेंट्स से उनकी बुद्धिमत्ता के बारे में बातचीत की। अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि ज्यादातर वीमन स्टूडेंट्स ने पुरुषों की तुलना में अपनी बुद्धिमत्ता को वास्तविकता से कम आंका। जब 3.3 जीपीए वाले फीमेल और मेल स्टूडेंट्स की तुलना की गई तो मेल स्टूडेंट ने खुद को अपने क्लास के 66 प्रतिशत स्टूडेंट्स से ज्यादा स्मार्ट बताया जबकि फीमेल स्टूडेंट ने कहा कि वे अपनी क्लास की सिर्फ 54 प्रतिशत स्टूडेंट्स से ज्यादा स्मार्ट हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper