श्रीलंका ने 3,000 से अधिक भारतीय मछुआरों को खदेड़ा

रामेश्वरम: श्रीलंका की नौसेना ने अपने जल क्षेत्र में मछली पकड़ने के आरोप में 3,000 से अधिक भारतीय मछुआरों को खदेड़ा, उन पर पत्थर फेंके तथा करीब 50 नौकाओं के मछली पकड़ने के जाल भी छीन लिए। मछुआरा संघ के नेता ने बृहस्पतिवार को यह दावा करते हुए कहा कि खदेड़े गए मछुआरे तमिलनाडु के थे। रामेश्वरम मछुआरा संघ के अध्यक्ष पी. सेसुराजा ने बताया कि इस शहर के और मंडपम क्षेत्र के मछुआरे बुधवार की सुबह 700 से अधिक मशीनीकृत नौकाओं में सवार होकर समुद्र में गये थे।

जब वे कच्चातीवू द्वीप के पास मछली पकड़ रहे थे तभी श्रीलंकाई नौसैनिक वहां पहुंचे और उन्हें धमकाया। उन्होंने आरोप लगाया कि श्रीलंका के नौसैनिकों ने करीब 50 नौकाओं के मछली पकड़ने के जाल छीन लिए, मछुआरों पर पत्थर फेंके तथा उन्हें वहां से खदेड़ दिया। उन्होंने बताया कि सभी मछुआरे बगैर मछली पकड़े बृहस्पतिवार की सुबह वापस आ गये।

क्या कांग्रेस अध्यक्ष राहुल कर रहे हैं दिग्विजय से परहेज?

सेसुराजा ने केन्द्र से अनुरोध किया है कि इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिये वह श्रीलंका सरकार के समक्ष यह मुद्दा उठाया जाये। मछली पकड़ने के संदर्भ में 1974 के भारत-श्रीलंका समझौते का उल्लेख करते हुए उन्होंने दावा किया कि कच्चातीवू में उन्हें मछली पकड़ने का अधिकार है। समझौते के तहत यह द्वीप पड़ोसी देश को हस्तांतरित किया गया है। श्रीलंका की नौसेना ने नेदुंतीवू तट पर मछली पकड़ने के आरोप में मंगलवार को रामानथपुरम और पुडुकोट्टई जिलों के 17 मछुआरों को गिरफ्तार कर लिया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper