संक्रमण की चपेट में आए चीन से दोगुने लोग, कोरोना वायरस ने देश में बढ़ाई और चिंता

नई दिल्ली: लॉकडाउन-4.0 खत्म होने वाला है लेकिन देश में कोरोना संक्रमण के मामले दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं। बीते एक हफ्ते में करीब 50 हजार नए केस सामने आए हैं। शुक्रवार तक देश में चीन से दोगुने लोग संक्रमण की चपेट में आ गए। मौतों के मामले में भी भारत ने चीन को पछाड़ दिया है।

भारत में लगातार आठ दिन से छह हजार से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं। शुक्रवार को तो रिकॉर्ड 7,466 नए मामले सामने आए और आंकड़ा 165799 तक पहुंच गया। इसके साथ ही तुर्की को पछाड़कर भारत उन शीर्ष नौ देशों में शामिल हो गया जहां सबसे ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में हैं। शीर्ष आठ देशों में अमेरिका, ब्राजील, रूस, ब्रिटेन, स्पेन, इटली, फ्रांस और जर्मनी शामिल हैं। हालांकि, देश में 14 दिन में केस दोगुने हो रहे हैं लेकिन यही रफ्तार रही तो अगले पांच दिन में दो लाख से ज्यादा लोग संक्रमण के दायरे में होंगे।

मुंबई, चेन्नई, पुणे, अहमदाबाद और इंदौर समेत देश के 15 शहरों में 70 फीसदी से ज्यादा मामले हैं। हालांकि, लखनऊ-कानपुर और बेंगलुरु जैसे शहरों में संक्रमण अपेक्षाकृत कम है। देश में 24 घंटों में 175 लोगों की मौत हुई और अब तक 4706 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं जबकि चीन में 4634 लोगों की मौत हुई है। एक हफ्ते से देश में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा औसतन 160 है और यह लगातार बढ़ता जा रहा है। हालांकि, थोड़ी राहत है कि 71,105 लोग बीमारी से उबर चुके हैं। देश में स्वस्थ होने वालों की दर 42.89% है।

राज्यों की बात करें तो दिल्ली, तमिलनाडु में संक्रमण की रफ्तार तेज है। दिल्ली में तो रोजाना एक हजार से ज्यादा मामले सामने आने लगे हैं। वहीं, तमिलनाडु में चुनौतीपूर्ण हालात हैं, यहां औसतन 800 से ज्यादा नए मामले दर्ज हो रहे हैं। सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र व गुजरात में बीते चार दिनों में रफ्तार कुछ थमी है। वहीं, डब्ल्यूएचओ ने कहा कि हमें कोरोना के एक और झटके के लिए तैयार रहना चाहिए। जैसे-जैसे लॉकडाउन में ढील बढ़ेगी, संक्रमण के मामलों में एक और बड़ा उछाल आ आएगा जिसके लिए हमें तैयार रहना चाहिए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper