संसद घेराव के लिए दिल्ली पहुंचे झारखंड के हजारों आदिवासी

रांची: पांचवी अनुसूची पूरे देश में लागू करने की मांग को लेकर जय आदिवासी युवा शक्ति (जयस) की ओर से एक से छह अप्रैल तक संसद भवन का घेराव किया जाना है। इसे लेकर झारखंड से हजारों की संख्या में आदिवासी दिल्ली पहुंच चुके हैं और घेराव की रणनीति बना रहे हैं। यह जानकारी शुक्रवार को जयस के झारखंड प्रभारी संजय पाहन ने दी।

उन्होंने बताया कि पांचवी अनुसूची पूरे देश में लागू करने की मांग को लेकर जयस बीते कई दिनों से आंदोलन कर रहा है। लेकिन इसके बावजूद भी सरकार इस दिशा में कोई पहल नहीं कर रही है। उन्होंने बताया कि इसी को लेकर जयस की ओर से एक से छह अप्रैल तक संसद घेराव कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। घेराव में शामिल होने के लिए पहली बार इतनी संख्या में आदिवासी शामिल हो रहे हैं। झारखंड के संथाल परगना से पांच हजार से अधिक आदिवासी पहुंच चुके हैं। संथाल परगना के जिले से जाने वाले आदिवासियों में दुमका, देवघर, जामताडा, पाकुड़ सहित अन्य जिले शामिल हैं।

संजय पाहन ने बताया कि अभी रांची, खूंटी, गुमला, हजारीबाग, रामगढ़, चतरा सहित अन्य जिलों के हजारों आदिवासी शुक्रवार को रांची से दिल्ली के लिए रवाना होंगे। दिल्ली में आदिवासी नेताओं के साथ बैठक कर घेराव की रणनीति तैयार की जा रही है। घेराव को लेकर जयस के पदाधिकारियों को कई जिम्मेदारी सौंपी गई है। उन्होंने कहा कि अभी झारखंड के कई जिलों से हजारों की संख्या में आदिवासी पहुंचने वाले हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper