संसद पहुंची महाराष्ट्र हिंसा की आंच, अनंत कुमार बोले- आग को भड़का रही है कांग्रेस

नई दिल्ली: पुणे में फैली जातीय हिंसा का असर पूरे महाराष्ट्र में दिखने को मिल रहा है। हिंसा के मामलें को लेकर बुधवार को संसद में भी जम कर हंगामा हुआ। कांग्रेस समेत सभी विपक्षी पार्टियों ने सरकार पर हमला बोला। इस बीच विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार के बीच अच्छी खासी बहस देखने को मिली। लोकसभा में नेता विपक्ष और कांग्रेस सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि भीमा-कोरेगांव में हर साल दलित लोग जाकर स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।

खड़गे ने कहा कि समाज में फूट डालने के पीछे कट्टर हिंदूवादी और आरएसएस का हाथ है। हर साल दलित समुदाय के लोग इस तरह का कार्यक्रम करते हैं। जिन राज्यों में भाजपा की सरकार है, वहां पर दलितों के खिलाफ इस प्रकार का हादसा हो रहा है। इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के जज से करवाई जानी चाहिए। प्रधानमंत्री को भी इस पर बयान देना चाहिए। वह इस पर चुप नहीं बैठ सकते। वह ऐसे मामलों पर मौनी बाबा बने रहते हैं।

संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और उसके नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, राहुल गांधी आग को बुझाने के बजाए भड़काने का काम कर रहे हैं। इस देश बर्दाश्त नहीं करेगा। कांग्रेस बांटों और राज्य करो की नीति अपना रही है और सबका साथ सबका विकास करके नरेन्द्र मोदी जी देश को साथ ला रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी गुजरात और हिमाचल हार चुकी है, इसलिए निराशा के साथ इस प्रकार की बातें कर रही है। आज के दिन में ब्रिटिश की जगह कांग्रेस वाले डिवाइड एंड रूल का काम कर रहे हैं।

यदि आज के दिन में सबका साथ सबका विकास लेकर चल रहा है तो वह हमारे नेता नरेंद्र भाई मोदी हैं। इस फोरम का इस्तेमाल वहां लगी आग को बुझाने के लिए होना चाहिए, कांग्रेस और राहुल गांधी उसे भड़काने का काम कर रहे हैं। आपको बता दें कि आज ही सरकार को राज्यसभा में तीन तलाक बिल पेश करना है।

साफ है कि सरकार चाहती है कि लोकसभा में जिस तरह से यह बिल पास हुआ है, राज्यसभा भी उस बिल को बिना किसी बदलाव के ठीक उसी तरह पास करवा दे। इसे राष्ट्रपति के पास दस्तखत के लिए भेजा जा सके और यह फौरन कानून बन सके। लेकिन ऐसा लगता है कि विपक्ष इस मूड में नहीं है कि आसानी से बिल पास हो सके. आपको बता दें कि भीमा-कोरेगांव लड़ाई की सालगिरह पर भड़की चिंगारी पूरे महाराष्ट्र में फैल रही है। हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हुई थी, जिसके बाद पूरे राज्य में धीरे-धीरे हिंसा पुणे के बाद मुंबई तक फैली।

राज्य सरकार ने मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। हिंसा के कारण बुधवार को भी राज्य के दैनिक जीवन पर असर दिख सकता है। आज कई गुटों ने महाराष्ट्र बंद का ऐलान किया है। मुंबई के मशहूर डब्बावालों ने भी अपनी सर्विस को ठप रखेंगे। इनके अलावा महाराष्ट्र बंद के कारण स्कूल बसों की सर्विस बंद है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper