संसद में कांग्रेस के रुख को जनता के बीच ले जाएगी भाजपा

नई दिल्ली: बीजेपी मिशन 2019 यानी अगले लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुट गई है। इसी मद्देनजर शुक्रवार को पार्टी संसदीय दल की महत्वपूर्ण बैठक हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,पार्टी अध्यक्ष अमित शाह सहित पार्टी के दिग्गजों ने बैठक में हिस्सा लिया। राष्ट्रपति अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव में प्रधानमंत्री के जवाब में कांग्रेस के हमले की बीजेपी के संसदीय दल की बैठक निंदा की गई। बैठक में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा जिस ढंग से लोकसभा मे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर कांग्रेस द्वारा किए गए हल्ला और टोकाटाकी की संसद में कांग्रेस का ये रवैया वह ठीक नहीं था। सदन के इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ है इसकी हम निंदा करते हैं। अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी जिस तरह की राजनीति की शुरुआत कर रहे हैं, उस तरह की राजनीति हम नहीं कर सकते हैं लेकिन हम उस गंदी राजनीति पर लगाम लगाने का काम करने का प्रयास करना होगा।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के अभिभाषण के दौरान कांग्रेस का रवैया को हम जनता के बीच लेकर जाकर कांग्रेस को जनता के सामने बेनकाब करने का काम करना है। कांग्रेस की इन बातों को संसद तक सीमित नहीं रहनी चाहिए,इस जनता के बीच ले जानी जाहिए। बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और वित्त मंत्री अरुण जेटली के बजट अभिभाषण की बुकलेट बांटी जाएगी। इन बुकलेट को लेकर पार्टी के सांसद अपने क्षेत्र में मोदी सरकार की नीतियों का प्रचार और प्रसार करने का काम करेंगे। 14 महीना पहले ही बीजेपी मिशन 2019 की सियासी जंग को फतह करने के लिए पूरी तरह से कमर कस ली है। मोदी सरकार ने अपने इस कार्यकाल के आखिरी बजट में ग्रामीण और किसानों को खास तव्वजो दी है। वित्त मंत्री अरुण जेटली 1 घंटे 50 मिनट के बजट भाषण में 1 घंटे सिर्फ किसान और ग्रामीण व्यवस्था पर ही बात करते रहे। इस दौरान वित्तमंत्री ने 24 बार किसानों और 16 बार खेती का जिक्र किया। सरकार ने इसे किसानों और गरीबों का बजट करार दिया है।

सूत्रों की माने तो राष्ट्रपति के अभिभाषण पर पीएम मोदी के संसद में दिए गए धन्यवाद भाषण को बुकलेट की शक्ल दी गई है। इसके अलावा पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद भाषण दिया था। शाह ने 2014 से लेकर अबतक की योजनाओं का जिक्र किया था। पीएम मोदी ने कांग्रेस पर प्रहार करते हुए अपनी सरकार की नीतियों की चर्चा की थी। बीजेपी आलाकमान का संकेत साफ है कि पार्टी के सांसद अपने क्षेत्रों में ज्यादा से ज्यादा समय दें। इसके अलावा बुकलेट को लेकर मोदी सरकार की नीतियों का प्रचार प्रसार करें,ताकि जनता को पता चल सके कि मोदी सरकार ने उनके लिए क्या-क्या कदम उठाए हैं?

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper