सड़कें बनी तालाब, पानी-पानी हुई मुंबई, रेस्क्यू किए गए लोकल में फंसे 290 यात्री

मुंबई: मॉनसून का सीजन देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के लिए आफत बन गया है. पिछले दो दिन से हो रही भारी बारिश के कारण मुंबई पानी-पानी हो गई है. सड़कों पर पानी जमा हो जाने से तालाब जैसा नजारा है. इससे ट्रैफिक की रफ्तार थम गई है, वहीं रेलवे लाइन भी डूब गई है. कई इलाकों में रेल ट्रैक पर भी ढाई से तीन फीट ऊपर तक पानी बह रहा है.

रेलवे ट्रैक पानी में डूब जाने से रेल परिचालन भी प्रभावित हुआ है. मस्जिद और भयखाला रेलवे स्टेशनों के बीच दो लोकल ट्रेन भी बारिश के पानी में फंस गईं. रेलवे के कर्मचारियों ने एक लोकल में फंसे 150 यात्रियों को सुरक्षित निकाल लिया. वहीं, मस्जिद स्टेशन से लगभग 50 मीटर दूर फंस गई लोकल से राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने 55 यात्रियों को रेस्क्यू किया.

एनडीआरएफ का यह रेस्क्यू ऑपरेशन देर रात 11 बजे तक चला. बताया जा रहा है कि दोनों लोकल से रेलवे सुरक्षा बल और एनडीआरएफ ने कुल 290 यात्रियों को रेस्क्यू किया. जेजे हॉस्पिटल में भी बारिश का पानी प्रवेश कर गया था. मुंबई और आसपास बारिश के कारण उत्पन्न हुए हालात को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से फोन पर बात की है.

प्रधानमंत्री ने सीएम उद्धव से मुंबई और आसपास के इलाकों के हालात की जानकारी ली, साथ ही हर संभव सहायता का आश्वासन भी दिया. वहीं, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आला अधिकारियों के साथ बैठक कर हालात और तैयारियों की समीक्षा की है.

मुख्यमंत्री ने भारी बारिश के कारण उत्पन्न हालात से निपटने के लिए उठाए जा रहे कदमों की जानकारी ली और अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए. मुख्यमंत्री ने बीएमसी से 6 अगस्त को भी भारी बारिश के अनुमान को देखते हुए हाई अलर्ट पर रहने को कहा है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आम नागरिकों से भी घर में ही रहने की अपील की है.

बारिश ने तोड़ा 46 साल का रिकॉर्ड
मुंबई के कोलाबा इलाके में सुबह 8.00 बजे से रात के 8.00 बजे तक 293.8 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई. दक्षिण मुंबई में पिछले 46 साल के दौरान इतनी बारिश नहीं हुई. बारिश ने कोलाबा इलाके में 46 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया. इस दौरान हवा की रफ्तार भी 106 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच गई थी. भारी बारिश के कारण करीब आधा दर्जन मकान और लगभग 150 पेड़ गिरने की भी खबर है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper