सतना में चलती बस से बाहर झांकना महिला को पड़ा मंहगा, सिर धड़ से हुआ अलग

भोपाल: एक महिला जैसे ही बस से अपना सिर बाहर निकाला वैसे ही उसकी मौत हो गयी। दरअसल, महिला उल्टी करने के लिए अपना सिर खिड़की से बाहर निकाली थी। इसके बाद महिला का सिर खंभे से टकरा गया। इस दुर्घटना में महिला का सिर धड़ से अलग हो गया और उसकी मौके पर मौत हो गयी।

सतना से छतरपुर जा रही बस में बैठी बुजुर्ग महिला की दर्दनाक तरीके से मौत हो गई। पन्ना के साइंस कॉलेज के सामने बिजली के खंभे से टकराने के कारण महिला का सिर कट गया। मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में भीषण और दर्दनाक मामला सामने आया है जहां बस में सफर कर रही महिला की गर्दन कट गई। सिर, धड़ से अलग होकर खिड़की से सड़क पर जा गिरा और महिला बस की सीट पर ही बैठी रह गई।

मीडिया रिपोट्र्स के अनुसार, छतरपुर से पन्ना होते हुए सतना जा रही यात्री बस में छतरपुर जिले के बक्सवाहा की रहने वाली 50 साल की आशारानी खरे सतना जा रही थी। वह खिड़की पर ही बैठी थी। पन्ना पहुंचकर बस ने जैसे ही टर्न लिया, वैसे ही आशारानी ने अपनी गर्दन खिड़की से बाहर निकाली। सड़क किनारे बगल में लगे खंबे से गर्दन जा टकराई और चलती बस में एक झटके से सिर, धड़ से अलग होकर बस के बाहर गिर गया।

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि मृतक महिला बीच में बैठी थी। उन्होंने मुझसे कहा कि हमें उल्टी आती है, खिड़की पर बैठ जाने दो। मैंने उन्हें अपनी जगह छोड़कर खिड़की पर बैठा दिया। जैसे ही उन्होंने गर्दन बाहर निकाली यह हादसा हो गया। बस, खंभे के इतने करीब से निकली कि महज कुछ ही इंच का फासला था। इसी बीच यह हादसा हो गया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper