सपा के मीडिया सेल संचालक गिरफ्तार, सीधे पुलिस हेडक्वार्टर पहुंच गए अखिलेश यादव

लखनऊ । पुलिस ने सपा के एक पदाधिकारी मनीष जगन अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी के विरोध में सपा में माहौल गर्मा गया है। पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव गिरफ्तारी के विरोध में पुलिस महानिदेशक कार्यालय पहुंचे और बाद में वह अग्रवाल से मिलने जेल पहुंच गये।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि सपा मीडिया सेल के ट्विटर से आपत्तिजनक और अभद्र टिप्पणी किये जाने की शिकायत भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) युवा मोर्चा की एक पदाधिकारी ऋचा राजपूत ने पिछले दिनो की थी। इससे पहले भी श्री अग्रवाल के खिलाफ गोमतीनगर थाने में भी भाजपा प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी से ट्विटर पर अभद्र टिप्पणी की शिकायत मिली थी। पुलिस ने इस मामले में विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था और इसी सिलसिले में उनको गिरफ्तार कर लिया गया।

अग्रवाल की गिरफ्तारी की सूचना मिलते ही सपा कार्यकर्ता आक्रोशित हो गये वहीं पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव डीजीपी मुख्यालय पहुंच गये हालांकि उन्हे वहां कोई जिम्मेदारी अधिकारी नहीं मिला जिसके बाद वह लखनऊ जेल के लिये रवाना हो गये। सपा प्रमुख की गतिविधियों की जानकारी खुद पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिये साझा की।

सपा ने ट्वीट किया राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पुलिस मुख्यालय, लखनऊ पहुंचे। मुख्यालय में कोई जिम्मेदार व्यक्ति मौजूद नहीं। बाद में एक अन्य ट्वीट में कहा गया राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता मनीष जगन अग्रवाल से मिलने लखनऊ जेल पहुंचे। सूत्रों ने बताया कि मनीष अग्रवाल सपा आईटी सेल की प्रमुख की भूमिका निभा रहे हैं। आरोप है कि इस दौरान पार्टी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से भाजपा नेताओं के प्रति आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल हुआ।

ADG कानून-व्यवस्था, प्रशांत कुमार ने अखिलेश यादव पर कहा, पुलिस हेडक्वार्टर में सपाअध्यक्ष ने प्रश्न किया कि मनीष जगन अग्रवाल को पुलिस क्यों गिरफ्तार कर लाई है। इस पर उनको मनीष के खिलाफ दर्ज मुकदमों की जानकारी दे दी गई। प्रशांत कुमार ने बताया कि हेड क्वार्टर में सभी वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। सभी ने अच्छे से उनकी बात सुनी और उन्हें सब कुछ समझाया गया। इन सबसे संतुष्ट होकर चले गए। बाद में अखिलेश यादव ने अधिकारियों की मौजूदगी में चाय भी पी।

‘पुलिस ने कानून के तहत कार्रवाई की’
प्रशांत कुमार ने कहा कि मनीष के खिलाफ कार्रवाई नियमानुसार की गई है। कई बार मर्यादाओं की सीमा को लांघते हुए ट्वीट किए गए हैं। नवंबर से ही ऐसा चल रहा था। पूरी जांच के बाद ही लखनऊ पुलिस ने इस संबंध में कार्रवाई की है। पुलिस हेडक्वार्टर के बाहर सपा कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन के सवाल पर प्रशांत कुमार ने कहा कि इस संबंध में सभी वीडियो हमारे पास उपलब्ध हैं। स्थानीय अधिकारी भी वहां मौजूद थे। सभी की जांच कर कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper