सपा ने गन्ना बकाया भुगतान को लेकर किया आंदोलन का ऐलान

लखनऊ: सपा ने लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सत्तारूढ़ भाजपा सरकार को घेरने की रणनीति के तहत 29 जुलाई को प्रदेश के 36 जिलों में किसानों के गन्ना बकाया भुगतान को लेकर आंदोलन का ऐलान किया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने इस सम्बंध में गन्ना उत्पादन वाले जिलों के 36 जिलाध्यक्षों को पत्र भेजकर निजी, सहकारी और निगम की चीनी मिलों पर बकाया भुगतान को लेकर किसानों के हित में चीनी मिल गेट पर धरना-प्रदर्शन करने का निर्देश दिया है।

इस आयोजन में जिलाध्यक्ष, महानगर अध्यक्ष, विधायक, पूर्व विधायक और पूर्व सांसद समेत अन्य बड़े नेताओं को शामिल होने को कहा गया है।श्री उत्तम ने सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, मेरठ, गाजियाबाद, हापुड़, बागपत, बुलंदशहर, बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद, संभल, रामपुर, बरेली, पीलीभीत, शाहजहांपुर, बदायूं, कासगंज, अलीगढ़, लखीमपुर, सीतापुर, हरदोई, फरूखाबाद, फैजाबाद, बाराबंकी, अम्बेडकरनगर, सुल्तानपुर, बलरामपुर, गोण्डा, बहराइच, महराजगंज, बस्ती, कुशीनगर, देवरिया, मऊ तथा आजमगढ़ में स्थित चीनी मिलों पर गन्ना किसानों के बकाया भुगतान नहीं किए जाने के विरोध में प्रदर्शन करने को कहा है।

प्रदेश अध्यक्ष ने अपने पत्र में सम्बंधित जिलों में स्थापित चीनी मिलों ने किसानों से गन्ना तो लिया मगर अभी तक पूरा भुगतान नहीं किया है। चीनी मिलों पर किसानों का 10 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का बकाया है। किसान हितों की दम्भ भरने वाली भाजपा सरकार, मुख्यमंत्री बकाया भुगतान नहीं होने पर चुप्पी साधे हैं जबकि किसान बेहाल है। उन्होंने कार्यक्रम के मद्देनजर सम्बंधित जिलाध्यक्षों को निर्देश दिया है कि वे चीनी मिलों के गेट पर धरना-प्रदर्शन करने के साथ ही प्रशासन से 15 अगस्त तक किसानों का बकाया भुगतान कराने की मांग करें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper