सपा-बसपा पर योगी का तंज, बताया सर्कस के शेर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एसपी और बीएसपी के गठबंधन पर तीखा तंज कसते हुए कहा कि कुछ लोग ‘सर्कस के शेर’ बन चुके हैं और वे खुद पर भरोसा करने के बजाय दूसरे के ‘जूठन’ पर निर्भर हो गए हैं। योगी ने कहा कि समाजवाद ‘मृगतृष्णा’ से ज्यादा कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि देश समाजवाद नहीं, बल्कि रामराज्य चाहता है। योगी ने विधान परिषद में वर्ष 2018-19 के बजट पर चर्चा के दौरान एसपी-बीएसपी के गठजोड़ पर कटाक्ष करते हुए किसी का नाम लिए बगैर कहा, कुछ लोग आजकल सर्कस के शेर हो गए हैं। सर्कस का जो शेर होता है, वह शिकार करने में असमर्थ होता है, इसलिए दूसरों की जूठन पर ही अपनी पीठ थपथपाता और गौरवान्वित होने की कोशिश करता है। उन्होंने कहा कि वह इसलिए गौरवान्वित होता है, क्योंकि उसे लगता है कि उसे कोई शिकार मिल गया है, तो ‘सर्कस का शेर’ बनने के बजाय खुद पर और अपने स्वाभिमान पर विश्वास करें तो बहुत अच्छी बात होगी।

योगी ने समाजवाद को लेकर भी एक शब्द का इस्तेमाल किया, जिस पर एसपी सदस्यों ने कड़ी आपत्ति जताते हुए पीठ से इसे सदन की कार्यवाही से निकालने का अनुरोध किया। योगी ने कहा, समाजवाद ‘मृगतृष्णा’ से ज्यादा कुछ नहीं है। देश समाजवाद नहीं, बल्कि रामराज्य चाहता है। एसपी सदस्यों ने कहा कि समाजवाद तो संविधान के प्राक्कथन का हिस्सा है। मुख्यमंत्री योगी सरकार के सबसे बड़े पद पर हैं और संविधान की ही शपथ लेकर यहां पहुंचे हैं। उन्हें समाजवाद के बारे में ऐसा नहीं कहना चाहिए। वहीं सीएम योगी ने समाजवाद के बारे में कहा कि उन्हें इस ‘बहुरूपिये ब्रैंड’ के बारे में अच्छी जानकारी है। उन्होंने कहा, ‘यह ब्रांड कभी जर्मनी में नाजीवाद के रूप में और इटली में फासीवाद के रूप में देखने को मिला है।

क्या उत्तर प्रदेश में इसका वीभत्स रूप गुंडाराज के तौर पर देखने को नहीं मिला है? योगी ने बजट को लेकर विपक्षी दलों की टिप्पणियों को सच से मुंह मोड़ने की कोशिश करार दिया और कहा कि इस बजट को जन विरोधी और विकास विरोधी कहने वालों की बातें समझ से परे हैं। योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने चार लाख 28 हजार करोड़ रुपए का अब तक का सबसे बड़ा बजट पेश किया है। पिछले साल जुलाई में पेश बजट में कृषि विभाग को आबंटित धन का 98 प्रतिशत खर्च हो चुका है। उन्होंने बताया कि ऊर्जा विभाग का 95 फीसदी, गृह विभाग का 100 प्रतिशत, पंचायती राज का 78 फीसदी, लोक निर्माण विभाग का 65 प्रतिशत, चिकित्सा शिक्षा विभाग का 87 फीसदी धन खर्च किया जा चुका है। योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत नौ लाख 71 हजार मकानों का निर्माण स्वीकृत किया। करीब 32 लाख परिवारों को बिजली के कनेक्शन दिए।

उन्होंने कहा कि किसानों को कई तरीकों से राहत दी गई है और यही राम राज्य है। प्रदेश की पूर्ववर्ती एसपी और बीएसपी सरकारों पर प्रदेश को पिछड़ा बनाने का आरोप लगाते हुए योगी ने कहा कि इन सरकारों की गलत नीतियों के कारण ही आज बीएड, टीईटी डिग्री धारक तथा शिक्षामित्र खून के आंसू रो रहे हैं। उनकी सरकार अब विभिन्न विभागों में बड़े पैमाने पर भर्ती करने जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बजट में हर तबके का ख्याल रखा गया है। उन्होंने दावा किया कि पिछले एक साल के दौरान एक भी किसान ने सरकारी नीतियों से तंग आकर आत्महत्या नहीं की है। योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के लिए बजट का इंतजाम कर दिया है और अगले महीने इसका शिलान्यास किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मंगलवार को एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संसद में पेश की गई एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए सदन में कहा कि उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा दंगे हो रहे हैं। दरअसल, वह रिपोर्ट वर्ष 2016 की थी, जब सूबे में अखिलेश की ही सरकार थी। पिछली सरकार में महिमामंडित होने वाले अपराधी आज कानून के आगे ‘गिड़गिड़ा’ रहे हैं। योगी ने कहा कि सरकार ने ऐसा माहौल बनाया है कि अपराधी ठेला लगाने को मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने देश-दुनिया के निवेशकों की नजर में उत्तर प्रदेश के प्रति नकारात्मक सोच को बदल दिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper